राज्य ब्यूरो, कोलकाता : कलकत्ता हाईकोर्ट ने बंगाल में चुनाव बाद हो रही हिंसा की घटनाओं पर पांच न्यायाधीशों की  बेंच का गठन किया है, जिसकी अगुआई मुख्य न्यायाधीश राजेश बिंदल करेंगे। अनिंद्य सुंदर दास नामक अधिवक्ता की ओर से दायर की गई जनहित याचिका पर गौर करते हुए हाईकोर्ट ने यह अभूतपूर्व कदम उठाया है। हाईकोर्ट हिंसा की घटनाओं पर राज्य सरकार से पहले ही विस्तृत रिपोर्ट जमा करने को कह चुका है। बेंच में मुख्य न्यायाधीश के अलावा न्यायाधीश आइपी मुखर्जी, हरीश टंडन, सौमेन सेन और सुब्रत तालुकदार शामिल हैं। मामले पर अगली सुनवाई 10 मई को होगी।

गौरतलब है कि बंगाल विधानसभा चुनाव संपन्न होने के बाद से ही हिंसा का दौर जारी है। विरोधी दलों के नेताओं व कार्यकर्ताओं पर लगातार हमले हो रहे हैं। हिंसक घटनाओं में अब तक 16 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि दर्जनों घायल हुए हैं। उनमें से कुछ की हालत गंभीर है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इन् मामले में कड़ा कदम उठाने की बात कही है। उन्होंने कहा कि वह हिंसा में यकीन नहीं करती और हिंसा फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। 

दूसरी तरफ केंद्र सरकार ने भी बंगाल में हिंसा कि घटनाओं पर गहरी चिंता जाहिर की है। बंगाल के हालात का जायजा लेने केंद्र से पिछले दिनों चार सदस्यीय टीम  बंगाल आई थी। इस टीम ने राज्यपाल जगदीप धनखड़ से हिंसक घटनाओं पर रिपोर्ट मांगी है।