कोलकाता, राज्य ब्यूरो। दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के तहत सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने नदिया जिले के विजयपुर सीमा चौकी क्षेत्र में भारत-बांग्लादेश सीमा के पास तस्करी के प्रयासों को नाकाम करते हुए दुर्लभ प्रजाति के 20 विदेशी पक्षियों को तस्करों के चंगुल से बचाया है। जब्त पक्षियों का नाम कानूर है और इसे अवैध तरीके से अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कराकर बांग्लादेश से भारत में तस्करी की कोशिश की जा रही थी।

बीएसएफ द्वारा जारी बयान में बताया गया कि दो मई को बॉर्डर आउट पोस्ट विजयपुर, 54वीं बटालियन के क्षेत्र से विदेशी पक्षियों की तस्करी के संबंध में बीएसएफ की खुफिया शाखा से एक विशेष जानकारी प्राप्त हुई। इसके बाद बॉर्डर आउट पोस्ट विजयपुर के जवानों को सतर्क कर दिया गया और संदिग्ध क्षेत्र में विशेष गश्त की गई। रात लगभग 7.30 बजे जवानों ने पिंजरों के साथ बांग्लादेश की ओर से दो उपद्रवियों की कुछ संदिग्ध गतिविधियों को देखा। तस्करों को देखते ही जवानों ने तुरंत चुनौती दी और उनका पीछा किया। लेकिन वे अधिक ऊंचाई की फसलों तथा अंधेरे का लाभ उठाकर पिंजरे को फेंककर बांग्लादेश की ओर भागने में सफल रहे। उसके बाद बीएसएफ जवानों ने अच्छे से तलाशी ली और एक पिंजरे मिला जिसमें 20 विदेशी पक्षियों को पाया। उसके बाद सभी बचाए गए पक्षियों को बॉर्डर आउट पोस्ट विजयपुर लाया गया। बीएसएफ ने जब्त पक्षियों को आगे की कार्रवाई के लिए वन विभाग, जिला नदिया को सौंप दिया है।

गौरतलब है कि बीएसएफ भारत-बांग्लादेश सीमा पर वन्यजीव की तस्करी पर अंकुश लगाने के कड़े कदम उठा रही है। जिसके कारण तस्कर सीमा क्षेत्र में अपनी कुख्यात गतिविधियों को अंजाम देने के लिए कठिनाइयों का अनुभव कर रहे हैं। उनमें से कई को अपराध करने के लिए पकड़ा जा रहा है और दंडित भी किया गया है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप