राज्य ब्यूरो, कोलकाता। दक्षिण बंगाल फ्रंटियर अंतर्गत सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने एक बार फिर मानवता की मिसाल पेश करते हुए बाइक दुर्घटना में घायल महिला को सही समय पर अस्पताल पहुंचाकर जान बचाने में मदद की है। घटना नदिया जिले में बीएसएफ की 86वीं बटालियन के सीमा क्षेत्र में आने वाले शिकारपुर गांव में 14 अक्टूबर 2021 की सुबह उस वक़्त हुई जब दिगपाल प्रमाणिक की पत्नी नीलमा प्रमाणिक (49) निवासी जमशेदपुर (हुगलबेरिया) का कालाचंद मंदिर के पास ब्रिटिश रोड पर अचानक बाइक फिसलने से एक्सीडेंट हो गया।

दुर्घटना में महिला को सिर में गहरी चोट लग गई थी। बार्डर आउट पोस्ट शिकारपुर के कंपनी कमांडर को जैसे ही इस घटना की जानकारी मिली तो उन्होंने बिना देर किए एक नर्सिंग सहायक के साथ बीएसएफ एंबुलेंस को दुर्घटना स्थल पर भेज दिया और महिला को प्राथमिक उपचार के पश्चात इलाज के लिए करीमपुर अस्पताल में भर्ती कराया। महिला की हालत अभी ठीक बताई जा रही है।

महिला के स्वजनों ने सीमा सुरक्षा बल के प्रति आभार व्यक्त किया और कहा कि अगर बीएसएफ जवानों ने सही समय पर मदद नहीं की होती सिर में गहरी चोट और अधिक खून बहने के कारण कुछ बड़ी अनहोनी भी हो सकती थी।बीएसएफ के जन संपर्क अधिकारी ने सीमा सुरक्षा बल के जवानों की हौसला अफजाई करते हुए कहा कि उनके जवान अंतरराष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा के साथ-साथ लोगों की सुरक्षा भी पूरी निष्ठा और जिम्मेदारी के साथ करते हैं। किसी भी अप्रिय घटना में जवान लोगो के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं। गौरतलब है कि इससे पहले भी 86वीं बटालियन ने कई घायल व्यक्तियों एवं सर्प दंश से पीड़ित लोगों को सही समय पर अस्पताल पहुंचा कर उनकी जान बचाने में मदद की है। इस तरह यह बटालियन सीमावर्ती क्षेत्र के लोगों की मदद कर लगातार उनका दिल जीत रही है।

Edited By: Babita Kashyap