राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल में भारत- बांग्लादेश सीमा इलाके में तस्कर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) की आंखों में धूल झोंकने के लिए हमेशा नई-नई तरकीब आजमा रहे हैं, लेकिन उनकी हर योजना पर पानी फिर जा रहा है। बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के जवानों ने अब नदिया जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा से सटे गेदे रेलवे स्टेशन से एक ट्रेन की बोगियों के नीचे की गुफाओं में छिपाकर रखी गई फेंसिडिल की बोतलें, विभिन्न दवाएं, कपड़े, स्मार्टफोन, शराब की बोतलें आदि जब्त किया है। इन सामानों की बांग्लादेश में तस्करी की जानी थी।

जब्त सामानों का अनुमानित मूल्य करीब 4.13 लाख रुपये है। बीओपी गेदे में तैनात 54वीं बटालियन के जवानों ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया।  बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के डीआइजी व वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी सुरजीत सिंह गुलेरिया ने रविवार को बताया कि विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर गेदे रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर दो पर शनिवार को ट्रेन नंबर- 16618- आर की बीएसएफ जवानों ने तलाशी ली। इस दौरान ट्रेन की बोगियों के नीचे की गुफाओं (पहिए के आसपास वाली छिद्रों) में छिपाकर रखी गई फेंसिडिल की बोतलें, दवाएं, कपड़े, स्मार्टफोन, शराब की बोतलें आदि जब्त किया है।

जब्त सामानों में 72 बोतल फेंसिडिल, 11 पीस महिलाओं के सूट, विभिन्न प्रकार की दवाएं व इंजेक्शन, 4 स्मार्टफोन व चार शराब की बोतलें जब्त किया गया। इन सभी सामानों का अनुमानित मूल्य 4,13,099 रुपये है। बीएसएफ ने आगे की कार्रवाई के लिए जब्त सामानों को कृष्णगंज थाने को सौंप दिया है। डीआइजी गुलेरिया ने बताया कि तस्कर सभी प्रकार के हथकंडे अपना रहे हैं लेकिन हमारे सजग व मुस्तैद जवान उनके हर हथकंडे को लगातार नाकाम कर रहे हैं। वहीं, 54वीं बटालियन के कमांडिंग अधिकारी (सीओ) देशराज ने कहा उन्होंने अपने इलाके में तस्करी की घटनाएं नहीं होने देने का प्रण ले रखा है। उन्होंने कहा कि आगे भी वह अपने इलाके में तस्करों के मंसूबों को किसी भी हालत में कामयाब नहीं होने देंगे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप