राज्य ब्यूरो, कोलकाता। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) अंतरराष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा के साथ सीमावर्ती क्षेत्र के लोगों के हर सुख- दुख में भी साथ रहती है। बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के जवानों ने एक बार फिर इसकी मिसाल पेश की है जब मुर्शिदाबाद जिले के सीमावर्ती इलाके में एक मकान में लगी आग को बुझाने में मदद की। बीएसएफ जवानों की तत्परता की वजह से समय रहते आग पर काबू पा लिया गया और कोई जान माल का नुकसान नहीं हुआ।

बीएसएफ की ओर से एक बयान में बताया गया कि यह घटना बल की 86वीं वाहिनी की बार्डर आउट पोस्ट बीआरसी पुर के इलाके की है। अधिकारियों ने बताया कि दोपहर के समय बीआरसी पुर गांव के अजीबर शेख के घर पर खाना बनाते हुए अचानक आग लग गई और देखते ही देखते आग तेजी से फैलने लगी। इसकी खबर जब बीआरसी पुर के कंपनी कमांडर को लगी तो वह बिना देरी किए अपने जवानों के साथ तुरंत अजीबर शेख के घर पहुंचे। तब तक आग ने विकराल रूप धारण कर लिया था लेकिन बीएसएफ जवानों की मदद से कुछ ही देर में आग पर काबू पा लिया गया। इसके बाद अजीबर शेख व ग्रामीणों ने बीएसएफ के प्रति आभार व्यक्त किया। उसने बताया कि समय रहते अगर बीएसएफ उसकी सहायता न करती तो आग आसपास के घरों में फैल सकती थी और भारी जान माल का नुकसान हो सकता था। लेकिन घटना में किसी के जानमाल का नुकसान होने खबर नहीं है।

इधर, दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के जनसंपर्क अधिकारी ने कहा कि हमारे जवान अंतरराष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा के साथ-साथ लोगों की सुरक्षा का भी पूरा ध्यान रखते हैं। किसी भी अप्रिय घटना की स्थिति में बीएसएफ के जवान, लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े रहते हैं। बताते चलें कि बीएसएफ इससे पहले भी बंगाल के सीमावर्ती इलाकों में कई बार आग बुझाने में स्थानीय लोगों की मदद की है। 

Edited By: Priti Jha