कोलकाता, राज्य ब्यूरो। बंगाल के बीरभूम जिले के लोकपुर इलाके में 2019 में हुए बम विस्फोट कांड की चार्जशीट में एनआइए ने सनसनीखेज खुलासा किया है। एनआइए के अनुसार, लोकसभा चुनाव के समय आतंक फैलाने के लिए तृणमूल नेता बाबलू मंडल के घर में बम जमा करके रखे गए थे। उन्हीं बम के फटने से यह घटना हुई थी। इस मामले में बाबलू मंडल को एनआइए पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। यह घटना 20 सितंबर, 2019 को हुई थी। मामले की जांच पहले सीआइडी कर रही थी। बाद में अदालत के निर्देश पर इसे एनआइए को सौंप दिया गया था।

तृणमूल नेता की सहमति से रखे गए थे बम

एनआइए को बबलू से पूछताछ में पता चला है कि उसकी सहमति से ही उसके घर में बम लाकर रखे गए थे। इसमें और दो लोग शामिल थे। एनआइए अभी उन दोनों को अब तक गिरफ्तार नहीं कर पाई है। गौरतलब है कि बंगाल में मुख्य विरोधी दल भाजपा तृणमूल कांग्रेस पर चुनाव में आतंक फैलाने का आरोप लगाती रही है।  भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने कुछ दिन पहले यह भी कहा था कि तृणमूल आतंक फैलाकर अगले साल होने वाला पंचायत चुनाव भी जीत जाएगी। बंगाल में चुनाव नहीं होता बल्कि  लोगों की लूट होती है। गौरतलब है कि बंगाल में चुनावी हिंसा का बहुत पुराना इतिहास रहा है। यहां नगर निकायों के चुनाव से लेकर लोकसभा चुनाव तक हिंसा की वारदातें होती रहती हैं।

Edited By: Sumita Jaiswal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट