राज्य ब्यूरो, कोलकाता। भाजपा ने मुकुल राय की अध्यक्षता में होने वाली बंगाल विधानसभा की पब्लिक अकाउंट्स कमेटी (पीएसी) की बैठक का बहिष्कार करने का फैसला किया है। मुकुल हाल में भाजपा छोड़कर तृणमूल कांग्रेस में लौटे हैं। उन्हें हाल में पीएसी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। उनकी अध्यक्षता में पीएसी की पहली बैठक आगामी 30 जुलाई को होने वाली है। भाजपा पीएसी के अध्यक्ष पद पर उनकी नियुक्ति को अवैध करार देते हुए इसका कड़ा विरोध कर रही है।

गौरतलब है कि जिस दिन यह बैठक होने वाली है, उसी दिन विधानसभा अध्यक्ष बिमान बंद्योपाध्याय के कक्ष में मुकुल के खिलाफ दलबदल विरोधी कानून के तहत भाजपा की तरफ से की गई शिकायत पर सुनवाई भी होने वाली है। नंदीग्राम से भाजपा विधायक व विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष सुवेंदु अधिकारी ने कहा कि मुकुल राय की पीएसी के चेयरमैन पद पर नियुक्ति अवैध तरीके से की गई है।

भाजपा की तरफ से इस कमेटी के लिए जिन विधायकों के नाम दिए गए थे, उन्हें मुकुल राय का नाम शामिल नहीं था, फिर भी उन्हें भाजपा का सदस्य बताकर पीएसी का चेयरमैन नियुक्त किया गया। वे और पार्टी के पांच विधायक पीएसी की बैठक में शामिल नहीं होंगे क्योंकि इसमें शामिल होने का मतलब मुकुल राय की अध्यक्षता को स्वीकृति प्रदान करना होगा। दूसरी तरफ तृणमूल विधायक तापस राय ने कहा कि स्वीकृति प्रदान करने वाली भाजपा कौन होती है? पीएसी अथवा विधानसभा की किसी भी कमेटी का चेयरमैन कौन होगा, यह निर्णय लेने का अधिकार विधानसभा अध्यक्ष को है। बैठक का बहिष्कार करके भाजपा कमेटी में शामिल अन्य विधायकों का अपमान कर रही है। 

Edited By: Priti Jha