राज्य ब्यूरो, कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष को मंगलवार को आसनसोल नगर निगम चुनाव में पार्टी के उम्मीदवारों के लिए प्रचार करने के दौरान रैली करने से रोक दिया गया जिसके बाद पुलिस और घोष के बीच तीखी बहस हुई। पुलिस का दावा है कि घोष ने कोविड नियमों का उल्लंघन कर बड़ी संख्या में लोगों के साथ चुनाव प्रचार किया। वहीं, प्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष ने इस आरोप का खंडन किया और कहा कि उनके साथ पार्टी के केवल पांच कार्यकर्ता थे।

घोष ने कहा, “पश्चिम बंगाल के पुलिसकर्मी तृणमूल कांग्रेस के इशारे पर काम कर रहे हैं। लोग मुझसे मिलना चाहते हैं। सुबह जब मेरे चाय पीने के दौरान अगर वे मुझसे बात करना चाहते हैं तो क्या उन्हें प्रचारकों की सूची में शामिल किया जा सकता है? लेकिन वे इस तरह हमें डिगा नहीं सकते। हम राज्य निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देश के तहत चुनाव प्रचार करेंगे।”घोष को पुलिसकर्मियों के साथ बहस करते देखा गया।

बताते चलें कि कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच 22 जनवरी को बंगाल के चार नगर निगमों के लिए होने वाले चुनाव के लिए राज्य चुनाव आयोग द्वारा जारी कोरोना प्रोटोकाल व दिशा निर्देशों का उल्लंघन करने के आरोप में पुलिस ने रविवार को बड़ी कार्रवाई की। पुलिस ने हुगली के चंदननगर नगर निगम इलाके में भाजपा की प्रचार रैली को रोककर विधायक समेत कुल सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया।बताया गया है कि रविवार को चंदननगर नगर निगम के वार्ड नंबर 26 के भाजपा प्रत्याशी संध्या दास के समर्थन में मालापाडा-कालीतल्ला इलाके में पुरसुरा के भाजपा विधायक विमान घोष के नेतृत्व में घर-घर घूमकर प्रचार किया जा रहा था।

आरोप है इस प्रचार रैली में तय संख्या से अधिक भाजपा समर्थक मौजूद थे। जैसे ही पुलिस को इसकी जानकारी हुई उसी समय राज्य चुनाव आयोग के अधिकारियों के साथ चंदननगर थाना के अधिकारी वहां पहुंचे और संध्या दास के समर्थन में किए जा रहे प्रचार को रूकवा दिया। साथ ही कोरोना नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में विधायक समेत सात भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया। इनमें विधायक विमान घोष के अलावा हुगली जिला भाजपा सांगठनिक के अध्यक्ष तुषार मजूमदार, युवा मोर्चा के अध्यक्ष सुरेश साव, भाजपा उम्मीदवार संध्या दास समेत कुल सात लोगों को गिरफ्तार करके थाने ले गई। हालांकि शाम में पुलिस ने विधायक समेत सातों लोगों को छोड़ दिया। 

Edited By: Priti Jha