राज्य ब्यूरो, कोलकाता। कोलकाता के नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआइ) को बड़ी सफलता हाथ लगी है। डीआरआइ की कोलकाता जोनल यूनिट की टीम ने एक खुफिया सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए 16.145 किलोग्राम हेरोइन की एक बड़ी खेप जब्त किया है। हेरोइन को ट्राली बैग में छुपा कर लाया गया था। इस सिलसिले में तीन विदेशी नागरिकों को भी गिरफ्तार किया गया है जिनमें दो महिलाएं हैं। डीआरआइ अधिकारियों ने शनिवार देर शाम यह जानकारी दी। अधिकारियों के अनुसार, जब्त हेरोइन की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत लगभग 113 करोड़ रुपये है।

अधिकारियों ने बताया कि यह घटना 30 मार्च की शाम की है, जब कोलकाता एयरपोर्ट पर एक खुफिया सूचना के आधार पर केन्या के दो यात्रियों (एक पुरुष और एक महिला) और दक्षिण पूर्व अफ्रीकी देश मलावी की एक महिला यात्री को रोका गया। उनके चार ट्राली बैगों की जांच के दौरान उसके अंदर बनाए गए विशेष गुहाओं में छुपा कर रखे गए भूरे रंग के संदिग्ध पदार्थ से भरे चौदह पैकेट मिले। जांच में एफएसएल की फील्ड एनडीपीएस टेस्टिंग किट ने हेरोइन की पुष्टि की है।बताया जा रहा है कि यह बहुत फाइन क्वालिटी की हेरोइन है।

डीआरआइ अधिकारियों ने बताया कि इनमें से दो यात्री मेडिकल वीजा पर जबकि एक बिजनेस वीजा पर आया था। तीनों को एनडीपीएस एक्ट के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है। डीआरआइ मादक पदार्थ को जब्त कर आगे की जांच कर रही है। आरोपित यात्रियों के तार ड्रग्स तस्करी के एक बड़े अंतरराष्ट्रीय गिरोह से बताए जा रहे हैं। तीनों से पूछताछ की जा रही है कि इस हेरोइन की भारत में कहां सप्लाई होने वाली थी और इस गिरोह से कौन-कौन लोग जुड़े हुए हैं। डीआरआइ अधिकारियों का दावा है कि हाल के दिनों में यह हेरोइन की सबसे बड़ी जब्ती है। डीआरआइ को उम्मीद है कि तीनों आरोपितों से पूछताछ में ड्रग्स तस्करी के अंतरराष्ट्रीय रैकेट के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी सामने आ सकती है। 

Edited By: Priti Jha