राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल की हाई प्रोफाइल भवानीपुर विधानसभा सीट पर होने जा रहे उपचुनाव के लिए सियासी संग्राम जारी है। इस सीट से चुनाव लड़ रहीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ चुनाव प्रचार के लिए बुधवार को केंद्रीय पेट्रोलियम व शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी भी चुनावी मैदान में उतरे। इस सीट से भाजपा प्रत्याशी प्रियंका टिबड़ेवाल के समर्थन में चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे पुरी ने सुबह में सबसे पहले भवानीपुर के संत कुटिया गुरुद्वारे में जाकर मत्था टेका। इसके बाद उन्होंने यहां के राय स्ट्रीट में घर-घर जाकर प्रचार किया और भाजपा प्रत्याशी के लिए वोट मांगा।

गौरतलब है कि इस गुरुद्वारे में कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी गईं थी और आशीर्वाद लिया था। वहीं, घर-घर प्रचार के बाद पुरी जनसंघ के संस्थापक डा श्यामा प्रसाद मुखर्जी के आवास एवं नेताजी भवन भी गए और वहां श्रद्धांजलि अर्पित की। आज पूरे दिनभर केंद्रीय मंत्री पुरी का भवानीपुर विधानसभा क्षेत्र में ताबड़तोड़ कार्यक्रम है।दोपहर में वे यहां एक भाजपा कार्यकर्ता के घर में भोजन करेंगे। इससे पहले यहां पहुंचने के बाद उन्होंने ममता सरकार पर निशाना साधा और कहा कि हर कोई जानता है कि तृणमूल कांग्रेस विधानसभा चुनाव में कैसे जीती। उन्होंने कहा कि उपचुनाव में भवानीपुर से निश्चित रूप से प्रियंका टिबड़ेवाल को जीत मिलेगी।

छात्रों व व्यापारिक समुदाय के लोगों से भी करेंगे संवाद

केंद्रीय मंत्री पुरी दोपहर में यहां छात्रों से लेकर व्यापारिक समुदाय के लोगों के साथ भी संवाद करेंगे और भाजपा प्रत्याशी के लिए वोट मांगेंगे। दोपहर 2:00 बजे से वे स्टूडेंट मीट में हिस्सा लेंगे। फिर इसके बाद 3:30 से 5:00 बजे तक होटल हिंदुस्तान इंटरनेशनल में बिजनेस कम्युनिटी के लोगों के साथ वे बैठक करेंगे। इसके बाद भी उनका कई कार्यक्रम है। बताते चलें कि भवानीपुर विधानसभा क्षेत्र में बड़ी संख्या में पंजाबी वोटर हैं। ऐसे में भाजपा ने उन्हें अपने पाले में करने के लिए पुरी को प्रचार के लिए उतारा है, जो सिख समुदाय से ही आते हैं।

ममता को टक्कर दे रही हैं प्रियंका टिबड़ेवाल

उल्लेखनीय है कि बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को कड़ी टक्कर देने के लिए भाजपा ने भवानीपुर उपचुनाव में राज्य भाजयुमो उपाध्यक्ष प्रियंका टिबड़ेवाल को अपना उम्मीदवार बनाया है। इससे पहले बंगाल विधानसभा चुनाव में प्रियंका टिबड़ेवाल हार चुकी हैं। प्रियंका पेशे से कलकत्ता उच्च न्यायालय और सर्वोच्च न्यायालय में वकील भी हैं। प्रियंका उन याचिकाकर्ताओं में से एक हैं, जिन्होंने राज्य में चुनाव के बाद हुई हिंसा को लेकर कलकत्ता हाई कोर्ट का रुख किया था।इधर, मुख्यमंत्री बने रहने के लिए ममता बनर्जी को राज्य विधानसभा में अपनी जगह बनाने के लिए उपचुनाव जीतने की जरूरत है। यह सीट तृणमूल कांग्रेस के शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने मई में खाली की थी। भवानीपुर ममता बनर्जी की परंपरागत सीट है। बता दें कि भवानीपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव 30 सितंबर को होंगे। मतों की गिनती और परिणामों की घोषणा तीन अक्टूबर को की जाएगी।

Edited By: Babita Kashyap