जागरण संवाददाता, कोलकाता : पश्चिम मेदिनीपुर जिले के घाटाल संसदीय क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार और पूर्व आइपीएस अधिकारी भारती घोष के एक बयान पर संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग ने जिला प्रशासन से रिपोर्ट तलब की है। भारती शनिवार को यहां पहुंची थीं। यहां भाजपा कार्यकर्ता लगातार उनपर हमले का आरोप तृणमूल पर लगाते रहे हैं।

इस बाबत घोष ने इस दिन कार्यकर्ताओं से घटना के संबंध में विस्तृत जानकारी ली और इसके बाद उनका गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। उन्होंने तृणमूल काग्रेस के लोगों को सीधे तौर पर धमकी देते हुए कहा कि ऐसा नहीं करें। उन्हें आखिरी चेतावनी दी जा रही है। यदि वे नहीं मानेंगे, तो उत्तर प्रदेश से 1000 भाजपा कार्यकर्ताओं को यहा बुला लिया जाएगा। इसके बाद अंदाजा लगा लें, कि क्या होगा? भाजपा के लोग तब घरों से निकाल-निकालकर लोगों की पिटाई करेंगे। फिर कोई बचाने भी नहीं आएगा।

भारती घोष के इस बयान पर तृणमूल के महासचिव पार्थ चट्टोपाध्याय ने कहा कि उनका यह बयान निंदनीय है। इस संबंध में तृणमूल काग्रेस की ओर से आयोग से शिकायत की जाएगी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप