राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल की हाई प्रोफाइल भवानीपुर विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की उम्मीदवार व राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को यहां के मतदाताओं से उन्हें जिताने की अपील करते हुए कहा कि एक वोट भी महत्वपूर्ण है। यहां चुनावी सभा को संबोधित करते हुए ममता ने इसके साथ ही दोहराया कि नंदीग्राम में साजिश के तहत उन्हें हराया गया था। उन्होंने कहा- लेकिन भवानीपुर से ही सीएम होना था। यही भाग्य में लिखा था। एक वोट भी महत्वपूर्ण है। इसलिए अपना वोट जरूर दें। ममता ने यहां तक कहा कि यदि आप वोट नहीं देंगे, तो मैं सीएम नहीं रह पाऊंगी, कोई और सीएम होगा। इसलिए जरूर वोट दें और उन्हें जिताएं, क्योंकि यह बड़ी लड़ाई है।

पीएम मोदी और अमित शाह पर साधा निशाना

मार्च-अप्रैल में हुए विधानसभा चुनाव में ममता इस बार भवानीपुर की बजाय नंदीग्राम से चुनाव लड़ीं थीं, जहां भाजपा के सुवेंदु अधिकारी से हार गईं थीं। इसीलिए सीएम बने रहने लिए उन्हें जीतना जरूरी है। ममता ने इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पर भी जमकर उन पर हमला बोला। उन्होंने नाम लेकर कहा कि नरेंद्र मोदी, अमित शाह, हम आपको भारत को तालिबान के जैसा नहीं बनाने देंगे। भारत अखंड रहेगा। गांधी जी, नेताजी, विवेकानंद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, गुरु नानक, गौतम बुद्ध, जैन सभी के अनुयाई इस देश में साथ रहेंगे। हम किसी को भी भारत को विभाजित नहीं करने देंगे।

भाजपा को बताया जुमला पार्टी

ममता ने इस दौरान भाजपा पर बरसते हुए उसे जुमला पार्टी बताया। उन्होंने कहा कि वे झूठ बोलते हैं कि हम राज्य में दुर्गा पूजा, लक्ष्मी पूजा की अनुमति नहीं देते हैं। उन्होंने कहा कि त्रिपुरा में तृणमूल के लोगों को जाने से रोका जा रहा है। भाजपा सरकार वहां इतनी डर गई है कि धारा 144 लगा रही है। ममता ने इस बात पर जोर दिया कि त्रिपुरा समेत अन्य भाजपा शासित राज्यों में भी खेला होगा। 

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डा सुकांत मजूमदार को प्रचार करने से रोका गया

भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष डा सुकांत मजूमदार ने बुधवार को आरोप लगाया कि भवानीपुर उपचुनाव के लिए उन्हें बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आवास के पास हरीश चटर्जी स्ट्रीट में प्रचार करने से रोका गया। वहीं, पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) आकाश मघारिया ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा, उनके पास टीकाकरण प्रमाणपत्र नहीं था और वे उच्च सुरक्षा क्षेत्र में दाखिल होने की कोशिश कर रहे थे, इसलिए उन्हें दूसरी सड़क पर जाने को कहा गया। इस दौरान पुरुलिया से भाजपा सांसद ज्योतिर्मय सिंह महतो और मघारिया के बीच भी मौके पर कहासुनी हुई।

प्रियंका टिबड़ेवाल को दिख रहा स्पष्ट समर्थन: हरदीप सिंह पुरी

भवानीपुर विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव में ममता बनर्जी के खिलाफ चुनाव प्रचार के लिए बुधवार को केंद्रीय पेट्रोलियम, आवास और शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी भी मैदान में उतरे। पुरी ने इस सीट से भाजपा की उम्मीदवार प्रियंका टिबड़ेवाल के समर्थन में घर-घर जाकर प्रचार किया और कहा कि उन्हें क्षेत्र में भगवा दल के लिए स्पष्ट समर्थन दिखाई दिया है। पुरी ने सुबह में सबसे पहले भवानीपुर के संत कुटिया गुरुद्वारे में जाकर मत्था टेका और अरदास की। उन्होंने नेताजी सुभाष चंद्र बोस और जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी के घर भी गए और उन्हें श्रद्धांजलि दी।

कलह पैदा करने के लिए तालिबान शब्द का इस्तेमाल कर रही है भाजपा : तृणमूल

बंगाल भाजपा के नवनियुक्त अध्यक्ष सुकांत मजूमदार द्वारा राज्य में चुनाव बाद हुई हिंसा को लेकर ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली राज्य सरकार की तुलना तालिबान शासन से करने पर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने कड़ी आपत्ति जताई है। टीएमसी के प्रवक्ता ओमप्रकाश मिश्रा ने कहा कि लोकतंत्र में इस तरह की भाषा किसी को शोभा नहीं देती। ममता बनर्जी की सरकार बहुमत से चुनी हुई है। उन्होंने कहा कि तालिबान शब्द भाजपा के लिए एक शार्टहैंड अभिव्यक्ति बन गया है, जिसका इस्तेमाल वह बार-बार कलह पैदा करने के लिए कर रही है। उल्लेखनीय है कि दिलीप घोष की जगह नए प्रदेश अध्यक्ष बनाए गए बालुरघाट से सांसद सुकांत मजूमदार ने मंगलवार को पदभार संभालते ही टीएमसी के शासन की तुलना तालिबान से की थी और कहा कि वह इसके खिलाफ लड़ेंगे। उनकी इस टिप्पणी के बाद, टीएमसी प्रवक्ता मिश्रा ने उनपर पलटवार किया है। मिश्रा ने कहा, वह (मजूमदार) मुख्यधारा की राजनीति में बिल्कुल नए हैं। उन्हें 'भारतीय जुमला पार्टी' की राष्ट्रीय संरचना के बारे में पता नहीं है। उन्होंने आगे कहा, कुछ लोगों के लिए यह सामान्य है कि उनका उत्साह उनके विवेक से आगे निकल गया है। वह कुछ भी बोल रहे हैं। मजूमदार के साथ यही हो रहा है।

Edited By: Sachin Kumar Mishra