राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पश्चिम व ओड़िशा के तटवर्ती इलाकों में उत्पन्न हुए डिप्रेशन के प्रभाव से मंगलवार को हुई मूसलाधार बारिश से कोलकाता समेत बंगाल के कई जिले पानी-पानी हो गए। बारिश का सामान्य जनजीवन पर व्यापक असर पड़ा।लोग पूरे दिन अपने घरों में बंद रह गए। सबसे ज्यादा परेशानी दफ्तर जाने वालों को हुई। कारोबार पर भी इसका भारी असर पड़ा। दुकान-बाजारों में बहुत कम लोग नजर आए। कोलकाता के नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर विमान सेवाओं पर भी काफी असर पड़ा। कई विमानों के उड़ान भरने व उतरने में विलंब हुआ। हावडा़ र्व सियालदह स्टेशनों पर लंबी दूरी की ट्रेनों के आवागमन में भी बारिश की वजह से विलंब हुआ।

अलीपुर मौसम कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक मंगलवार सुबह आठ बजे से शाम 5.30 बजे के दौरान कोलकाता के अलीपुर इलाके में 63 मिलीमीटर, दमदम में 130 मिलीमीटर और साल्टलेक में 104 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई, वहीं कोलकाता से सटे बैरकपुर में 98 मिलीमीटर और डायमंड हार्बर में 115 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई।कोलकाता के कई इलाके बारिश के पानी में डूब गए हैं।

कोलकाता के अलावा हावड़ा, उत्तर व दक्षिण 24 परगना, नदिया, पूर्व व पश्चिम बर्द्धमान, बीरभूम समेत कई जिलों में भी इस दिन काफी बारिश हुई। मौसम विभाग ने बुधवार को भी डिप्रेशन का असर बने रहने का पूर्वानुमान जताया है, जिसके कारण बंगाल के विभिन्न जिलों में हल्की से मूसलाधार बारिश का दौर जारी रह सकता है।

मौसम वैज्ञानिकों ने इस बार मानसून की अच्छी बारिश की संभावना जताई थी, जो सही साबित हुई है। मानसून के विदा होने में अभी भी कुछ हफ्तों का समय बाकी है। उस समय तक और भी बारिश होने के आसार हैं जुलाई व अगस्त में भी अच्छी बारिश हुई थी।

-------------

बारिश के दौरान मेनहोल में ढाई घंटे तक फंसी रही महिला

न्यूटाउन के सापूरजी इलाके में बारिश का पानी जमा होने से समझ में नहीं आने से सड़क के मेनहोल में एक महिला फंस गई। करीब ढाई घंटे तक उसका आधा शरीर फंसा रहा। दमकल कर्मियों ने आकर उन्हें बचाया।

 

Edited By: Vijay Kumar