राज्य ब्यूरो, कोलकाता : किराया बढ़ाने को लेकर बस मालिकों के बाद अब टैक्सी ऑपरेटरों ने भी राज्य सरकार पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है। एआइटीयूसी समर्थित टैक्सी संगठन के बाद अब बंगाल टैक्सी एसोसिएशन ने भी किराया नहीं बढ़ाने पर अगले महीने हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है। एआइटीयूसी समर्थित टैक्सी संगठन ने दो अगस्त को हड़ताल पर जाने की बात कही थी। अब बंगाल टैक्सी एसोसिएशन ने 12 व 13 अगस्त को हड़ताल करने की चेतावनी दी है।

अविलंब टैक्सी किराया बढ़ाने की जरूरत

टैक्सी संगठनों का कहना है कि पेट्रोल का दाम दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है। कोरोना काल में टैक्सी चालकों की कमाई भी बहुत कम गई है। कोलकाता में पेट्रोल का मूल्य सौ रुपये को पार कर गया है। ऐसे में टैक्सी चलाना मुश्किल होता जा रहा है। अविलंब टैक्सी का किराया बढ़ाए जाने की जरूरत है। बंगाल टैक्सी एसोसिएशन ने न्यूनतम किराया 50 रुपये करने की मांग की है।

फिलहाल किराए में वृद्धि नहीं की जाएगी

गौरतलब है कि बस मालिक संगठन राज्य सरकार पर किराया बढ़ाने को लेकर लगातार दबाव बना रहे हैं। राज्य के परिवहन मंत्री फिरहाद हकीम ने हालांकि साफ तौर पर कह दिया है कि फिलहाल किराए में वृद्धि नहीं की जाएगी। इसे देखते हुए निजी बस मालिकों ने खुद से किराया बढ़ा दिया है। वे न्यूनतम किराया 10 रुपये ले रहे हैं।

सबसे ज्यादा परेशानी आम जनता को

यात्री भी बढा़ किराया देने को मजबूर हैं। बसों में हो रही भीड़ को देखते हुए बहुत से लोग टैक्सी में सफर कर रहे हैं। ऐप कैब का किराया भी काफी बढ़ा हुआ है। अब टैक्सी ऑपरेटरों ने भी दबाव बनाना शुरू कर दिया है। ऐसे में सबसे ज्यादा परेशानी आम जनता को ही होने वाली है।

Edited By: Vijay Kumar