राज्य ब्यूरो, कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोरोना की दूसरी लहर के लिए केंद्र को जिम्मेदार ठहराया है। ममता ने कोरोना की वैक्सीन बांटने के तरीके को भी गलत करार दिया। उन्होंने कहा-'केंद्र सरकार को छह से आठ महीने का वक्त मिला था। उसमें उसने क्या किया? कोरोना की दूसरी लहर के लिए केंद्र ही जिम्मेदार है। उसका वैक्सीन बांटने का तरीका भी गलत है। महामारी फैलने के लिए विपक्ष को दोष क्यों दिया जा रहा है। भाजपा ही सबके लिए बड़ी बीमारी है। बंगाल की जनता ने जो फैसला दिया है, वह उसे स्वीकार नहीं कर पा रही है।'

ममता ने आगे कहा-'चुनाव के दौरान कोरोना के मामलों में उछाल आ गया था। सब जानते हैं कि आठ चरणों में चुनाव कराए गए। हम लगातार मांग करते रहे कि चुनाव को एक चरण में कर दिया जाए लेकिन हमारी बात किसी ने नहीं सुनी। एक चरण में चुनाव कराने से समस्याएं कम होतीं। जब चुनाव थे, उस वक्त पॉजिटिविटी रेट 33 फीसद के पार चला गया था लेकिन अब हालात काबू में हैं और पॉजिटिविटी रेट भी तीन फीसद से नीचे आ गया है। कई सारे उपचुनाव होने अभी बाकी हैं। अब हालात काबू में हैं तो एक हफ्ते में उपचुनाव कराए जा सकते हैं, हालांकि मुझे पता है कि जब पीएम बोलेंगे, तभी चुनाव कराए जाएंगे।'

मुख्यमंत्री ने कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की योजना भी बताई। उन्होंने बताया कि तीसरी लहर में बच्चों के संक्रमित होने का खतरा जताया जा रहा है, इसलिए 12 साल से छोटे बच्चों की मांओं का प्राथमिकता के साथ पहले टीकाकरणकिया जाएग। राज्य के मुख्य सचिव एचके द्विवेदी ने बताया कि जुलाई तक सरकारी अस्पतालों में 1,300 पीडियाट्रिक आइसीयू सेटअप कर लिए जाएंगे।

Edited By: Vijay Kumar