राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल रणजी टीम के पूर्व कप्तान व सूबे के खेल राज्य मंत्री मनोज तिवारी फिर से क्रिकेट ग्राउंड में बल्लेबाजी करते नजर आएंगे। उन्हें 21 सदस्यीय बंगाल रणजी टीम में शामिल किया गया है। मनोज तिवारी ने आखिरी बार मार्च, 2020 में बंगाल की तरफ से सौराष्ट्र के खिलाफ रणजी ट्राफी का फाइनल मैच खेला था। पिछले साल हुए बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले वे तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए थे।

उन्होंने शिवपुर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था और हावड़ा के पूर्व मेयर व भाजपा प्रत्याशी रथिन चक्रवर्ती को हराया था। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उन्हें अपने कैबिनेट में शामिल करते हुए खेल राज्य मंत्री बनाया है। मनोज तिवारी चोटिल होने के कारण रणजी का पिछला सत्र नहीं खेल पाए थे लेकिन अभिमन्यु ईश्वरन की कप्तानी वाली टीम में उन्होंने वापसी की है।

गौरतलब है कि ग्रुप 'बी' में शामिल बंगाल का पहला मुकाबला 13 जनवरी को बेंगलुरु में त्रिपुरा से है। इस ग्रुप में बंगाल के साथ विदर्भ, राजस्थान, केरल हरियाणा और त्रिपुरा शामिल हैं। इस बीच बंगाल रणजी टीम के सात सदस्य कोरोना संक्रमित हो गए हैं। इनमें छह खिलाड़ी व टीम के सहायक कोच शामिल हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए खिलाड़ियों का आरटी पीसीआर टेस्ट कराया गया था, जिनमें कुछ खिलाड़ियों की रिपोर्ट पाजिटिव आई है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक संक्रमित होने वाले खिलाड़ियों में सुदीप चटर्जी, अनुस्तूप मजुमदार, काजी जुनेद सैफी, गीत पुरी, प्रदीप प्रमाणिक व सुरजीत यादव शामिल हैं। उनके साथ टीम के सहायक कोच सौराशीष लाहिड़ी भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। रणजी की शुरुआत से पहले बंगाल टीम के लिए यह बड़ा झटका है। उन्होंने शिवपुर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा था और हावड़ा के पूर्व मेयर व भाजपा प्रत्याशी रथिन चक्रवर्ती को हराया था। मनोज तिवारी ने आखिरी बार मार्च, 2020 में बंगाल की तरफ से सौराष्ट्र के खिलाफ रणजी ट्राफी का फाइनल मैच खेला था।

Edited By: Priti Jha