राज्य ब्यूरो, कोलकाता : कोलकाता की हाई-प्रोफाइल भवानीपुर और मुर्शिदाबाद की जंगीपुर व शमशेरगंज विधानसभा सीटों पर बेहद कड़ी सुरक्षा के बीच गुरुवार को मतदान होगा। चुनाव आयोग की तरफ से सुरक्षा के बेहद कडे़ इंतजाम किए गए हैं। केंद्रीय बलों की 72 कंपनियों के साथ हजारों पुलिसकर्मी सुरक्षा का जिम्मा संभालेंगे। अकेले भवानीपुर में केंद्रीय बलों की 35 कंपनियां तैनात की जाएंगी।

इस सीट से मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी उम्मीदवार हैं। उनके मुकाबले भाजपा की प्रियंका टिबडे़बाल और माकपा के श्रीजीब विश्वास हैं। भवानीपुर में उपचुनाव और जंगीपुर व शमशेरगंज सीटों पर आम चुनाव होना है। तीनों सीटों पर शांतिपूर्ण, निष्पक्ष व अबाध तरीके से मतदान कराना चुनाव आयोग के लिए बेहद कड़ी चुनौती होगी क्योंकि बंगाल में चुनावी हिंसा का लंबा इतिहास रहा है।

पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान भी काफी खून-खराबा हुआ था। चुनाव बाद भी हिंसा का दौर जारी रहा था। भवानीपुर में चुनाव प्रचार के अंतिम दिन बंगाल भाजपा के पूर्व अध्यक्ष दिलीप घोष को लेकर तृणमूल व भाजपा कार्यकर्ताओं में जिस तरह से झड़प हुई थी, उसे देखते हुए चुनाव आयोग बेहद सतर्क है।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि भवानीपुर में बूथों के 200 मीटर के दायरे में धारा 144 लागू कर दी गई है। मतदान के दिन बूथों के 100 मीटर के दायरे में नेता- मंत्री के सुरक्षाकर्मी को हथियारों के साथ प्रवेश करने नहीं दिया जाएगा। मतदान के दिन इलाके में बाहरी लोग प्रवेश न कर सके, इस बाबत होटलों व गेस्ट हाउस पर कड़ी नजर रखी जा रही है। भवानीपुर इलाके में नौ थानों के दायित्व प्राप्त डीसी चुनावी ड्यूटी में रहेंगे। ट्रैफिक पुलिस की विशेष बाइक टीम भी गश्त लगाएगी।

अधिकारी ने आगे बताया कि भवानीपुर में 97 मतदान केंद्रों के 287 मतदेय स्थलों में से प्रत्येक पर केंद्रीय बल के जवान तैनात किए जाएंगे। बूथ के बाहर सुरक्षा का प्रभार कोलकाता पुलिस के हाधों में होगा। किसी भी मतदान केंद्र के 200 मीटर के दायरे में पांच या उससे अधिक लोगों को एकत्र होने की अनुमति नहीं होगी। पत्थर, हथियार, पटाखे या अन्य विस्फोटक सामग्री लाने पर प्रतिबंध लगाया गया है। भवानीपुर में 38 स्थानों पर पुलिस चौकियां बनाई गई हैं।उपचुनाव के लिए एक अतिरिक्त पुलिस आयुक्त के अलावा चार संयुक्त पुलिस आयुक्त, 14 उपायुक्त और इतने ही सहायक आयुक्त तैनात किए गए हैं। तीन अतिरिक्त नियंत्रण कक्ष भी खोले गए हैं। ईवीएम को पहुंचाने के लिए 141 विशेष वाहनों का प्रबंध किया गया है।’

 

Edited By: Vijay Kumar