कोलकाता, राज्य ब्यूरो। बंगाल भाजपा के अध्यक्ष व सांसद  दिलीप घोष पर बुधवार को कोलकाता से सटे राजरहाट इलाके में कथित तौर पर हमला किया गया जब वह सुबह की सैर के लिए गए थे। घोष ने दावा किया कि उनकी कार क्षतिग्रस्त हो गई है और सुरक्षाकर्मियों की वजह से वह बाल-बाल बच गए। उन्होंने कहा कि राजारहाट से सटे भांगड़ के कोचपुकुर गांव में वह  एक चाय की दुकान पर थे जब तृणमूल के कुछ गुंडों ने उन पर हमला किया।भाजपा नेताओं ने हमले के लिए स्थानीय तृणमूल नेता तापस चटर्जी को जिम्मेदार ठहराया है। हालांकि, चटर्जी ने दावा किया कि उन्हें फंसाया जा रहा है।

इधर, लोकसभा में कांग्रेस के नेता व सांसद अधीर रंजन चौधरी ने घोष पर हुए हमले की निंदा की है। वहीं, घटना के बाद दिलीप घोष ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मैं राजरहाट-  न्यूटाउन क्षेत्र में ही रहता हूं और सुबह में पास के कोचपुकुर गांव में चला गया था। हमलावरों ने हमारी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की और मुझ पर हमला करने की कोशिश की।  लेकिन मेरे सुरक्षा गार्ड्स ने उन्हें रोका। इसके बाद हमलावरों ने कुर्सियां ​​फेंक दीं और मेरी कार में तोड़फोड़ की। हालांकि, सुरक्षा गार्ड की सतर्कता ने हम बच गए। 

घोष ने कहा कि मेरे वहां जाने के बारे में स्थानीय पुलिस को पहले ही सूचित कर दिया गया था, फिर भी यह हुआ। इसलिए आप बंगाल के लोगों की सुरक्षा की कल्पना कर सकते हैं। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि घटना के कई घंटे बीतने के बावजूद पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। घोष की ओर से इस हमले को लेकर कोलकाता के लेदर कंपलेक्स थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई गई है।

इधर, कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने भाजपा नेता घोष पर हमले की निंदा की है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में एक विपक्षी नेता पर हमला नहीं किया जा सकता, भले आप उसे बर्दाश्त नहीं कर सकते। अन्य दलों के नेताओं ने भी इस घटना की निंदा की है। दूसरी ओर, तृणमूल कांग्रेस ने इस घटना में हाथ होने से इनकार किया है।

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस