राज्य ब्यूरो कोलकाता : चुनाव बाद हिंसा में मारे गए भाजपा कार्यकर्ता अभिजीत सरकार की याद में कोलकाता में आयोजित पूजा पंडाल पर गत रात उपद्रवियों द्वारा हमला करने का आरोप लगा है। पूजा का आयोजन अभिजीत के भाई विश्वजीत सरकार ने किया है। विश्वजीत के परिवार ने थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई है। परिवार का आरोप है कि यह हमला तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) समर्थित गुंडों ने किया है।

कोलकाता के कांकुरगाछी इलाके में पूजा का आयोजन किया गया है। इस इलाके में दो मई को विधानसभा चुनाव के नतीजे के दिन अभिजीत सरकार की हत्या कर दी गई थी। हत्या का आरोप तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर लगा है। घटना की जांच सीबीआइ कर रही है। अभिजीत सरकार ने पिछले साल से अपनी पहल पर मोहल्ले में दुर्गा पूजा शुरू की थी। अभिजीत के परिवार का आरोप है कि सोमवार देर रात कुछ बदमाश मोटरसाइकिल पर सवार होकर आए और लाठियों और राड से हमला कर दिया। पूजा पंडाल में तोड़फोड़ करने का प्रयास किया गया। दिवंगत भाजपा कार्यकर्ता के परिवार ने कांकुरगाछी थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई है। हालांकि पुलिस ने अभी तक इस घटना में किसी को गिरफ्तार नहीं किया है। तृणमूल कांग्रेस की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

अभिजीत सरकार की हत्या की जांच कर रही है सीबीआइ

आरोप है कि मृत्यु के बाद भी अभिजीत सरकार के परिवार को अभी तक न्याय नहीं मिला है, क्योंकि पहले तो पुलिस ने सहयोग नहीं किया। उल्टा पुलिस पर असली दोषियों को जबरन छुपाने का आरोप लगाया गया है। अभिजीत के परिवार वालों का कहना है कि उन्हें अब उम्मीद की रोशनी दिख रही है क्योंकि हाई कोर्ट के निर्देश पर आखिरकार सीबीआइ जांच शुरू हो गई है। सीबीआइ ने अभिजीत सरकार की हत्या के मामले में कई लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है और मृतक के परिवार से कई बार पूछताछ भी कर चुकी है। लंबी कानूनी लड़ाई के 130 दिन बाद परिवार को उसका शव मिला था। उसके बाद उसका श्राद्ध किया गया था।

Edited By: Vijay Kumar