-एटीएम में घुसकर धोखाधड़ी से उड़ा लिए थे महिला के दस हजार रुपये

-ऑन लाइन स्किमर मशीन, मैगनेटिक कार्ड रीडर और राइटर डिवाइस बरामद

जागरण संवाददाता, कोलकाता : एटीएम में घुसकर धोखाधड़ी से महिला ग्राहक के दस हजार रुपये उड़ाने वाले स्किमर गैंग का पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। तीन लोगों को गिरफ्तार कर उनके पास से ऑन लाइन स्किमर मशीन, मैगनेटिक कार्ड रीडर, नगदी और राइटर डिवाइस बरामद किया गया है। बिहार के गया का गैंग पूजा के अवसर पर एटीएम जालसाजी के मंसूबों को अंजाम देने के लिए कोलकाता आया था।

सूत्रों के अनुसार बीते रविवार को न्यू मार्केट थाना क्षेत्र अंतर्गत कोलकाता नगर निगम कार्यालय के पास एक शॉपिंग मॉल में काम करने वाली चिंता राय नामक महिला एक निजी बैंक के एटीएम में रुपये निकालने के गई थी। आरोप है कि उस वक्त एटीएम के अंदर दो लोग थे जबकि उनका एक साथी बाहर खड़ा था। इसी बीच एक शख्स ने एटीएम से रुपये निकालने में मदद का भरोसा देकर उसका पिन नंबर पूछा। तभी बराबर के एटीएम मशीन में खड़े उसके दूसरे साथी ने उक्त पिन नंबर से दस हजार रुपये निकाल कर बाहर निकल गया। खतरा भांपकर महिला ने शोर मचा दिया। इस पर बाहर खड़े गश्ती टीम के पुलिस कर्मियों ने एटीएम के अंदर से एक शख्स को दबोच लिया। जबकि उसके दोनों साथी फरार हो गए। आरोपित से पूछताछ के बाद न्यू मार्केट थाने के ओसी सुप्रिय पाल के नेतृत्व में शांतनु चंद्र, मृत्युंजय मजूमदार, संजय विश्वास और गौरीशंकर विश्वास की टीम ने उसके साथियों की तलाश शुरू कर दी। इसी बीच आरोपितों की मोबाइल टावर लोकेशन मध्य कोलकाता के एक होटल में मिलते ही छापेमारी कर दी। मौके से दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। उनके पास से महिला से उड़ाई गई रकम, ऑन लाइन स्किमर मशीन, मैगनेटिक कार्ड रीडर और राइटर डिवाइस बरामद की गई। पुलिस के अनुसार आरोपित मोहम्मद आरिफ खान (20), अनुज कुमार (20) तथा राजकुमार मिस्त्री (21) बिहार के गया निवासी हैं। इनमें से आरिफ ट्रक का खलासी और राजकुमार लोहे का मिस्त्री है। जबकि अनुज कुमार वजीरगंज कालेज में बीएससी का छात्र है। जबकि उसका पिता प्राथमिक शिक्षक है। उक्त तीनों आरोपितों ने पूजा के अवसर पर एटीएम से रुपये उड़ाने के लिए गैंग तैयार किया था। इसके लिए गैंग सप्तमी यानी 5 अक्टूबर को गया से कोलकाता पहुंच गया था। लेनिन सरणी स्थित एक होटल में तीनों ठहरे थे। अगले दिन से ही उन्होंने एटीएम जालसाजी का काम शुरू कर दिया था। पुलिस ने गैंग के अन्य सदस्यों एवं अभी तक कितनी घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं इस बाबत जानकारी के लिए आरोपितों से पूछताछ की जा रही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021