कोलकाता। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उनका जाना देश के लिए एक बड़ी क्षति है। ममता बनर्जी वाजपेयी सरकार में रेल मंत्री थींउन्होंने कहा कि उनके जेहन में उनकी स्नेहपूर्ण यादें हमेशा आती रहेंगी उन्होंने ट्वीट किया कि बेहद दुख है कि महान राजनेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी हमारे बीच नहीं हैं उनका निधन हमारे देश के लिए बड़ी क्षति है।


उन्होंने कहा, ‘मेरे जेहन में उनकी स्नेहपूर्ण यादें हमेशा रहेंगी मेरी संवदेनाएं उनके परिवार और प्रशंसकों के साथ हैं’ वाजपेयी का गुरुवार को नई दिल्ली के एम्स में लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के बारे में कहा है कि मैं उनके लिए काफी सम्मान रखती हूं

गौरतलब है कि ममता बनर्जी वाजपेयी के नेतृत्व वाली राजग सरकार में एक कैबिनेट मंत्री थीं और वह अक्तूबर 1999 से मार्च 2001 तक रेल मंत्री और इसके बाद उन्होंने जनवरी से मई 2004 तक खान मंत्रालय का पदभार संभाला था

इस बीच वह मार्च 2001 से जनवरी 2004 तक बिना विभाग की मंत्री रही थीं वाजपेयी के साथ बारीकी से काम करने की अपनी यादों का स्मरण करते हुए बनर्जी ने कहा,‘‘अटल जी के काम करने की पद्धति मौजूदा भाजपा सरकार के कामकाज के तरीके से बिल्कुल अलग थी इनमें कोई समानता नहीं है' उन्होंने कहा,‘‘हमने बाहर से उन्हें समर्थन दिया था हम (तृणमूल कांग्रेस) उनके लिए एक स्तंभ की तरह थे'

कोलकाता के बेरीवाल परिवार को भूला नहीं जा सकता है, जिनके साथ वाजपेयी जी का खास जुड़ाव रहा है।बता दें कि बेरीवाल परिवार के साथ वाजपेयी जी का नाता एक परिवार के एक सदस्‍य की तरह है। परिवार से मिलने के लिए वाया कोलकाता जाते थे बिहार और ओडिशा वाल फैमिली के लिए, वाजपेयी एक पारिवारिक मित्र हैं। वाजपेयी जी को लेकर परिवार के घनश्याम बेरीवाल बताते हैं कि जब भी अटल बिहारी का बिहार, ओडिशा में कोई कार्यक्रम होता था, तो वह कोलकाता होते हुए अपना कार्यक्रम रखते थे और फिर हमारे घर जरूर आते थे।

कोलकाता के इस घर में आकर अक्‍सर फिल्‍में देखते थे अटल 

घनश्याम बेरीवाल के मुताबिक अटल जी हमारे घर पर बने तरह के पारंपरिक भोजन का आनंद लेते थे। अटल जी से जुड़ी बातों को याद करते हुए बेरीवाल जी कहते हैं कि कई मौकों पर ऐसा हुआ कि वाजपेयी जी घर की बालकनी में आराम से बैठकर गोलगप्पा खाते थे।


इस घर में आकर अक्‍सर फिल्‍में देखते थे अटल बिहारी
घनश्‍याम जी बताते हैं कि अटल बिहारी अक्‍सर हमारे घर में आकर फिल्‍में देखते थे। एक बार की बात है हम लोगों ने उनके साथ बैठकर चर्चित फिल्‍म 'उमराव जान' देखी थी। वो एक बेहतरीन इंसान थे। बेरीवाल परिवार के एक सदस्‍य के मुताबिक कई बार उन्‍होंने अपने आकस्मिक दौरे से घर के सदस्‍यों को चौंका दिया था।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप