राज्य ब्यूरो,कोलकाताः कलकत्ता हाई कोर्ट में शुक्रवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के अलावा तृणमूल कांग्रेस के चार और विधानसभा चुनाव में हारे उम्मीदवारों ने चुनाव नतीजे को चुनौती देते हुए याचिका दायर की है। इन चार चुनावी याचिकाओं पर सुनवाई की, जो पिछले दिनों चुनाव आयोग द्वारा घोषित परिणामों के अनुसार विधानसभा चुनावों में भाजपा उम्मीदवारों से पराजित हो गए थे। अदालत की चार अलग-अलग पीठों ने इन चार याचिकाओं पर सुनवाई की। तृणमूल उम्मीदवार मानस मजूमदार ने गोघाट से भाजपा के विश्वनाथ कारक के निर्वाचन को चुनौती देते हुए याचिका दायर की है।

न्यायमूर्ति शुभ्रा घोष ने अदालत के समक्ष याचिकाकर्ता की डिजिटल रूप से व्यक्तिगत उपस्थिति पर गौर करते हुए प्रतिवादियों को नोटिस जारी करने का निर्देश दिया। मामले में अगली सुनवाई नौ जुलाई को होगी। बलरामपुर से भाजपा के बनेश्वर महतो के निर्वाचन को चुनौती देते हुए शांतिराम महतो ने एक अन्य याचिका दायर की है। इस याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति शुभाशीष दासगुप्ता ने कहा कि मामले की सुनवाई 15 जुलाई को होगी। न्यायमूर्ति बिबेक चौधरी ने बनगांव दक्षिण से भाजपा के स्वपन मजूमदार के निर्वाचन को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई की। यह याचिका तृणमूल उम्मीदवार आलो रानी सरकार ने दायर की है।

इस मामले में अगली सुनवाई 16 जुलाई को होगी। इसी प्रकार, तृणमूल उम्मीदवार संग्राम कुमार दोलई ने मोयना से अशोक डिंडा के निर्वाचन को चुनौती देते हुए याचिका दायर की है। न्यायमूर्ति तीर्थंकर घोष ने इस याचिका पर सुनवाई 25 जून तक के लिए स्थगित कर दी। इससे पहले दिन में अदालत ने विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी के नंदीग्राम विधानसभा सीट से निर्वाचन को चुनौती देने वाली बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की याचिका पर सुनवाई 24 तक के लिए स्थगित कर दी।

Edited By: Vijay Kumar