राज्य ब्यूरो, कोलकाता : मवेशी तस्करी मामले की जांच के सिलसिले में सीबीआइ ने शुक्रवार को तृणमूल कांग्रेस के कद्दावर नेता अनुब्रत मंडल की बेटी सुकन्या मंडल को नया नोटिस भेजा है। नोटिस में सुकन्या से बंगाल में करोड़ों रुपये की कमाई और संपत्ति का ब्योरा मांगा है। नए नोटिस में सुकन्या मंडल को विशेष रूप से बोलपुर में चावल मिलों के अलावा उन कंपनियों से संबंधित सभी दस्तावेज जमा करने के लिए कहा गया है, जहां वह निदेशक के पद पर हैं, जहां उनका स्वामित्व है। सीबीआइ सूत्रों ने कहा कि अधिकारियों ने पहले भी इन विवरणों की मांग की थी, लेकिन उन्होंने इसे नजरअंदाज कर दिया और इसलिए आज सुबह इस मामले में एक नया नोटिस जारी किया गया। सीबीआइ अधिकारियों की एक टीम मंडल के बोलपुर स्थित आवास पर पहुंची और उन्हें व्यक्तिगत रूप से नोटिस सौंपा।

सीबीआइ की एक विशेष अदालत पांच अक्टूबर को करेगी सुनवाई

दंड प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा 91 के तहत नोटिस भेजा गया है। नोटिस में सीबीआइ के अधिकारियों ने सुकन्या मंडल के आयकर रिटर्न डिटेल्स भी मांगी हैं। वर्तमान में अनुब्रत मंडल पश्चिम बर्द्धमान जिले के आसनसोल विशेष सुधार गृह में न्यायिक हिरासत में है। सीबीआइ की एक विशेष अदालत पांच अक्टूबर को उनके मामले में सुनवाई करेगी।

रसोइया से भी एजेंसी के बोलपुर स्थित अस्थायी शिविर में पूछताछ

मंडल परिवार के रसोइए से भी पूछताछ : सीबीआइ ने शुक्रवार को मंडल परिवार द्वारा नियुक्त एक रसोइया से भी एजेंसी के बोलपुर स्थित अस्थायी शिविर में पूछताछ की। सूत्रों के अनुसार उस रसोइए के बैंक खाते में कुछ लेन-देन वास्तव में संदिग्ध हैं और जांच अधिकारियों को संदेह है कि इस खाते का इस्तेमाल मवेशी तस्करी घोटाले की आय को व्यवस्थित करने के लिए किया गया होगा। पूछताछ की पूरी प्रक्रिया रिकार्ड की जा रही है।

प्राथमिक स्कूल की शिक्षिका इतनी संपत्ति की मालकिन कैसे हो सकती है

सुकन्या मंडल के स्वामित्व वाली संपत्ति शुरू से ही सीबीआइ अधिकारियों की जांच के घेरे में रही है, जो इस बुनियादी सवाल का जवाब खोजने की कोशिश कर रहे हैं कि बीरभूम में एक सरकारी प्राथमिक स्कूल की शिक्षिका के रूप में,वह इतनी बड़ी संपत्ति की मालकिन कैसे हो सकती है।

निजी पालिटेक्निक कालेज और निजी मेडिकल कालेज के मालिक मलय पीट से भी पूछताछ

इससे पहले सीबीआइ अधिकारियों ने स्थानीय व्यवसायी और बोलपुर में एक निजी पालिटेक्निक कालेज और निजी मेडिकल कालेज के मालिक मलय पीट से भी पूछताछ की, जिसे अनुब्रत मंडल का करीबी माना जाता है। जांच एजेंसी के अधिकारियों को संदेह है कि मवेशी तस्करी की आय का एक निश्चित हिस्सा ट्रस्टों में निवेश किया गया था, जिसके माध्यम से ये दो निजी कालेज चलाए जा रहे हैं।

Edited By: Vijay Kumar