जागरण संवाददाता, कोलकाता। अत्यधिक बारिश और बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदा का सामना कर रहे पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आठ अगस्त, शनिवार को सर्वदलीय बैठक बुलायी है। राज्य सचिवालय नवान्न सूत्रों के अनुसार बैठक इस दिन शाम चार बजे होगी जिसमें राज्य के सभी छोटे बड़े सियासी दलों के प्रतिनिधियों को शामिल होने को कहा गया है।

मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार प्रदेश के सभी विपक्षी दलों को बुधवार तक बैठक में शामिल होने के लिए आवेदन पत्र भेज दिया जाएगा। समझा जाता है कि ममता इस दिन विपक्षी दलों से बाढ़ नियंत्रण के लिए किए गए सरकारी प्रयास का ब्यौरा प्रस्तुत करेंगी।

उल्लेखनीय है कि मंगलवार को माकपा के राज्य सचिव व विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष डाक्टर सूर्यकांत मिश्रा ने मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर बाढ़ प्रभावित लोगों को राहत देने व बाढ़ प्रभावित मौजा को चिन्हित कर सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग की थी। साथ ही मिश्रा ने बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए तत्काल खाद्य, पेयजल, तिरपाल, कपड़ा, चिकित्सा व अन्य जरूरतमंद चीजों की व्यवस्था करने को कहा था। इस बीच बाढ़ पीडि़त लोगों तक अधिक से अधिक मदद पहुंचाने की होड़ मची हुई है। 2016 विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक पार्टियां इस मौके को अपने हक में भुनाने की जुगत में जी-जान से जुटी हुई हैं।

विभिन्न दलों के नेता लगातार बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर लोगों की सहानुभूति हासिल करने में लगे हुए हैं। और इस सब के बीच कहीं न कहीं लगातार राज्य सरकार और प्रशासन विपक्ष के निशाने पर रहा है। समझा जाता है कि मुख्यमंत्री बैठक के जरिये विपक्ष को भरोसे में लेने की कोशिश करेंगी।

गौरतलब है कि मंगलवार को राज्य सरकार ने सूबे के 12 जिलों को बाढग़्रस्त घोषित किया है और अब तक 83 लोगों की मौत की पुष्टि की गई है। इस बीच केंद्र सरकार से मदद मांगने 11 अगस्त को ममता दिल्ली जाएंगी।

सरकार के मुताबिक बारिश व बाढ़ से राज्य भर के विभिन्न जिलों में 36 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। वहीं 3.6 लाख लोग 2 हजार 213 राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं।

Posted By: Bhupendra Singh

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस