- सभी स्टेशनों को मिला प्रतिष्ठित आइएसओ सर्टिफिकेट राज्य ब्यूरो, कोलकाता : दक्षिण पूर्व रेलवे के अंतर्गत खड़गपुर डिवीजन के सभी दस रेल स्टेशनों को इको स्मार्ट स्टेशन के लिए नामित किया गया है। इन स्टेशन परिसरों में रेल यात्रियों को अन्य सेवाओं के साथ स्वच्छता व पर्यावरण हितैषी सेवाएं प्रदान के स्तर बेहतर है। इसके लिए इन स्टेशनों को प्रतिष्ठित आइएसओ 14001:2015 प्रमाण पत्र से सम्मानित भी किया गया है।

हाल ही में नौ स्टेशनों, खड़गपुर, बालासोर, शालीमार, झारग्राम, मिदनापुर, मेचदा, सांतरागाछी, बागनान और पांसकुड़ा को बेहतर सेवाओं के लिए आइएसओ 14001:2015 सर्टिफिकेट दिया गया। इससे पूर्व खड़गपुर डिवीजन के तहत दीघा स्टेशन को भी विभिन्न फोरम की ओर से सम्मान प्रदान किया गया था। खड़गपुर के सभी दस रेल स्टेशनों को आइएसओ सर्टिफिकेट प्राप्त है।

गौर हो कि इन स्टेशनों को ईको फ्रेंडली स्टेशन के तौर पर विकसित करने के लिए कई प्रकार के कदम उठाए गए हैं। इसके तहत प्लास्टिक के बोतल के दुबारा इस्तेमाल को कम करने व कम से कम कचरा उत्पन्न करने के लिए मशीनें स्थापित की गई हैं। अपशिष्ट जल के परिशोधन के लिए सभी इको फ्रेंडली स्टेशनों पर एफ्लुएंट ट्रीटमेंट प्लाट (ईटीपी) और सीवेज ट्रीटमेंट प्लाट (एसटीपी) स्थापित करने के लिए मुहिम चलाई गई है। पारंपरिक टायलेट्स को ग्रीन व ईको फ्रेंडली टायलेट्स से बदला जा रहा है। वहीं रेलवे ट्रैक और आसपास के क्षेत्रों में खुले में शौच को रोकने के लिए टास्क फोर्स का गठन किया गया है। वहीं पर्यावरण हितैषी कार्ययोजना के तहत स्टेशन परिसरों में वन विभाग के सहयोग से पौधारोपण किया जा रहा है। जल व उर्जा के गैर-जरूरी इस्तेमाल को रोकने के कई प्रकार के कदम उठाए जा रहे हैं। इन दस रेल स्टेशनों के अलावा टाटानगर, झाड़सुगुदा, राउरकिला, चक्रधरपुर, आद्रा, बांकुड़ा, विष्णुपुर, पुरुलिया, बोकारो स्टील सिटी और रांची स्टेशनों को भी ईको फ्रेंडली स्टेशन के तौर पर विकसित किया गया है। इन्हें भी आइएसओ सर्टिफिकेट प्रदान किया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस