- वीडियो वायरल होने से अणुब्रत की बढ़ी मुश्किलें

- भाजपा और माकपा ने की चुनाव आयोग से शिकायत

- जिला मजिस्ट्रेट ने उचित कार्रवाई दिया आश्वासन

जागरण संवाददाता, कोलकाता : अक्सर अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रखने वाले बीरभूम के तृणमूल अध्यक्ष अणुब्रत मंडल ने अब चुनावी ड्यूटी में तैनात होने वाले सरकारी कर्मचारियों को ही खुलेआम धमकी दी। जिसका एक वीडियो भी वायरल हुआ है जिसमें अणुब्रत शिक्षकों के संमेलन को संबोधित करते हुए सीधे धमकी देते नजर आ रहे हैं। उक्त वीडियो में अणुब्रत ने कहा कि आप लोगों को चुनावी ड्यूटी में तैनात होना है। अगर सुरक्षित तरीके ड्यूटी करना चाहते हैं तो प्रत्येक बूथ पर बोगस तरीके से कम से कम 500 से 600 वोट डालने दीजिएगा। और रही बात आपकी सुरक्षा की तो अगर हमारे पक्ष में रहेंगे तो तृणमूल सदस्य आपकी मदद करेंगे। हालांकि रविवार को सामने आए इस धमकी भरे वीडियो पर आपत्ति जाहिर करते हुए भाजपा व माकपा की ओर से इसकी लिखित शिकायत चुनाव आयोग में दर्ज कराई गई है। वहीं दूसरी ओर उक्त वीडियो में उन्हें यह कहते हुए भी देखा गया कि यह एक महत्वपूर्ण चुनाव है। ऐसे में सभी को अपनी जिम्मेदारी निभानी होगी और ऐसे में मैं खुद सभी पीठासीन अधिकारियों से अनुरोध करता हूं कि कम से कम 500 से 600 बोगस वोट तृणमूल के समर्थन में पड़ने दें। इधर, वीडियो के वायरल होने के बाद मीडिया कर्मियों से सोमवार को मुखातिब हुए अणुब्रत मंडल ने सफाई देते हुए कहा कि मेरी बातों को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है। असल में मैं धांधली की नहीं, बल्कि मॉक वोटिंग की बात कर रहा था। हालांकि मॉक वोटिंग प्रक्रिया व वीडियो में 500 से 600 बोगस वोट पर पूछे गए सवाल के जवाब पर वो खामोश रह गए और धीरे से चलते बने। वहीं जिला मजिस्ट्रेट मौमिता गोदारा ने कहा कि उन्हें इस मामले की सूचना मिली है और वे वीडियो को देखने के बाद उचित कार्रवाई करेंगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस