राज्य ब्यूरो, कोलकाता। तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) द्वारा बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को प्रधानमंत्री पद के लिए विपक्ष का चेहरा बताए जाने पर बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने एतराज जताया है। उन्होंने बयान जारी कर कहा कि तृणमूल प्रवक्ता ने ममता को पीएम का चेहरा बताया है। वह इस बात से सहमत नहीं हैं। इस तरह का बयान विपक्ष के अभियान को कमजोर करेगा। गौरतलब है कि तृणमूल कांग्रेस ने कहा था कि पीएम मोदी का वैकल्पिक चेहरा बनने में राहुल गांधी विफल रहे हैं। पार्टी ने ममता को विपक्ष का नेतृत्व करने का दावेदार बताया था। कांग्रेस तृणमूल के इस दावे को ज्यादा महत्व नहीं दे रही। कांग्रेस की तरफ से कहा गया है कि अभी यह अनुमान लगाना जल्दबाजी होगी कि पीएम मोदी का वैकल्पिक चेहरा कौन बनेगा। दरअसल, तृणमूल के मुखपत्र 'जागो बांग्ला' में एक कवर स्टोरी छपी थी, जिसमें पार्टी सांसद सुदीप बंद्योपाध्याय के हवाले से कहा गया था कि राहुल गांधी विफल रहे हैं। ममता वैकल्पिक चेहरा हैं। उन्होंने आगे कहा था कि देश वैकल्पिक चेहरे की तलाश कर रहा है। वे राहुल गांधी को लंबे समय से जानते हैं। राहुल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वैकल्पिक चेहरे के रूप में उभरने में विफल रहे हैं, जबकि ममता इसमें सफल रही हैं।

इस बीच, शनिवार को टीएमसी में शामिल हुए भाजपा सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने ममता बनर्जी की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह इस समय देश में विपक्ष की एक बहुत ही शक्तिशाली व लोकप्रिय चेहरा हैं। रविवार को उन्होंने कहा कि आप सभी यह देख रहे हैं कि किस तरह से विरोधी दल के लोग उनके पास आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि 2014 में देश के लोगों ने जिस तरह नरेंद्र मोदी से उम्मीद की थी, उसी तरह 2024 में ममता बनर्जी से उम्मीद है। अभी कुछ दिनों पहले सोनिया गांधी ने विपक्षी नेताओं के साथ बैठक की थी।

Edited By: Sachin Kumar Mishra