जागरण संवाददाता, हावड़ा : पारिवारिक विवाद को केंद्र कर तेजाब हमले का एक मामला सामने आया है। सड़क किनारे बस स्टैंड पर बस का इंतजार कर रही अपनी भाभी पर देवर ने तेजाब से हमला बोल दिया। घटना में महिला के चेहरे का एक हिस्सा समेत शरीर के अन्य हिस्से झुलस गए हैं। पीड़ित महिला को हावड़ा जिला अस्पताल में दाखिल कराया गया है।

वहीं सरेआम तेजाब फेंककर भागने के दौरान स्थानीय लोगों ने आरोपित को पकड़ लिया। जमकर धुनाई के बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया गया। हावड़ा थाना के टिकियापाड़ा स्थित बेलिलियस रोड इलाके में रविवार की दोपहर लगभग 2 बजे उक्त घटना घटी है।

बस स्टैंड पर अपने बच्चों संग खड़ी थी पीड़िता:

ऐनुल का कहना है कि रविवार को उसकी पत्नी अपने दो बच्चों के साथ कोलकाता स्थित एक रिश्तेदार के यहां शादी समारोह में शिरकत करने जा रही थी। बस पकड़ने के लिए वह घर के पास ही बेलिलियस रोड के मुर्गी गली स्थित बस स्टैंड पर बस का इंतजार कर रही थी। इस दौरान शमशेर पास के एक गली से अचानक हाथों में तेजाब से भरा बोतल लेकर निकला। उसने बोतल में रखे तेजाब को अपनी भाभी के चेहरे पर फेंक दिया। हादसे में शमशेर की भाभी के चेहरे का एक हिस्सा झुलस गया। वहीं शरीर के बाकी हिस्से भी तेजाब के छींटों से जल गए हैं।

हालांकि इस हमले में महिला के साथ मौजूद दो बच्चे बाल-बाल बच गए हैं। महिला को तत्काल स्थानीय लोगों की मदद से हावड़ा जिला अस्पताल में दाखिल कराया गया। इधर तेजाब हमला कर भाग रहे आरोपित को स्थानीय लोगों ने पकड़ लिया। जमकर उसकी धुनाई करने के बाद पुलिस को इसकी सूचना दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस आरोपित शमशेर को गिरफ्तार कर थाने ले गई।

ट्रेन से नीचे गिर हुआ था जख्मी:

शमशेर के भाई ऐनुल ने कहा कि बीते तीन माह पूर्व वह अजमेर शरीफ दरगाह जा रहा था। इस दौरान ट्रेन में हुए विवाद में वह नीचे पटरियों पर जा गिरा। आगरा स्थित ट्रेन के पटरियों के पास झाड़ियों में वह जख्मी हालत में पड़ा था। किसी तरह से ऐनुल को इसकी सूचना मिली।

वहां पहुंच एनुल उसे यहां लाया और हावड़ा जिला अस्पताल में भर्ती कराया। बुरी तरह से जख्मी होने के कारण अस्पताल में लगभग तीन माह तक उसका इलाज चला। ऐनुल ने बताया कि इसी साल जनवरी के प्रथम सप्ताह अस्पताल से उसे छुट्टी मिली थी।

हालांकि अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद भी वह अपनी आदत से बाज नहीं आया। शराब पीकर लगातार घर में आता और परिवार के लोगों को परेशान करता था। उसकी इस आदत से आजिज आकर आखिरकार उसे घर से बाहर कर दिया गया था। बावजूद इसके वह नशे की हालत में घर में आता और परिवार के लोगों से मारपीट करता और उनसे गाली-गलौज करता था। पुलिस का कहना है कि मामले में जांच शुरू कर दी गई है। पीड़ित महिला समेत संबद्ध तमाम पक्षों से पूछताछ की जा रही है।

शराब पीकर घर में करता था बवाल

पीड़ित महिला का नाम जमिला बेगम (40) है। वह उक्त थाना के 22-1, बेलिलियस रोड इलाके में रहती है। महिला के पति ऐनुल अंसारी के अनुसार उसका भाई शमशेर अंसारी उर्फ राजू अंसारी शादीशुदा है। उसकी पत्नी की मौत हो चुकी है। उसके दो बच्चे हैं। शमशेर को शराब पीने की बुरी लत है। आए दिन शराब पीकर घर में आता था और अपनी भाभी समेत परिवार के बाकी लोगों से र्दुव्‍यवहार व मारपीट करता था। वह अपने बच्चों को भी मारता-पिटता व उन्हें गालियां देता था। शमशेर की इस आदत से परेशान होकर उसे एक माह पूर्व घर से निकाल दिया गया। उसके बच्चे की देखरेख खुद ऐनुल कर रहा था। 

Posted By: Preeti jha