राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल में विधानसभा चुनाव बाद हिंसा में जख्मी दक्षिण 24 परगना जिले के मगराहाट पश्चिम के भाजपा प्रत्याशी और पार्टी के मथुरापुर के उपाध्यक्ष मानस साहा की बुधवार को मौत हो गई। दो मई को मानस साहा सहित भाजपा कार्यकर्ता व समर्थकों पर कथित रूप से तृणमूल कांग्रेस समर्थित बदमाशों ने डायमंड हार्बर कालेज के मतगणना केंद्र से वापस लौटते समय हमला किया था। जिसमें उन्हें चोट भी लगी थी, बाद में उनकी तबीयत बिगड़ गई थी और आज उन्होंने दम तोड़ दिया। भाजपा की ओर से बताया गया है कि मानस साहा को बुधवार सुबह ठाकुरपुकुर के नर्सिंग होम ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई। ठाकुरपुकुर स्थित अस्पताल पहुंचे भाजपा सांसद अर्जुन सिंह ने परिवार के सदस्यों के साथ-साथ कार्यकर्ताओं से बात की। उन्होंने कहा कि अगर परिवार के सदस्यों ने पुलिस में प्राथमिकी दर्ज कराई तो वह चुनाव के बाद की हिंसा के इस मामले को भी सीबीआइ जांच की मांग की जाएगी।

सीबीआइ ने दो और मुकदमे दर्ज किए

दूसरी ओर, बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद हुई हिंसा के दौरान दुष्कर्म और हत्या के मामलों में सीबीआइ ने दो और मुकदमे दर्ज किए हैं। यह मुकदमे झाड़ग्राम और दक्षिण 24 परगना जिले में हुई हिंसा की बाबत दर्ज किए गए हैं। सीबीआइ द्वारा दर्ज किए गए मुकदमों की अब तक कुल संख्या 40 हो गई है। सीबीआइ के एक आला अधिकारी के मुताबिक पहला मामला झाड़ग्राम से जुड़ा हुआ है। प्राथमिकी में लगाए गए आरोपों के मुताबिक आरोपितों ने चाय की दुकान चलाने वाले एक शख्स पर धारदार हथियारों से हमला किया था। चाय दुकानदार एक भाजपा से जुड़ा था। दूसरा मामला दक्षिण 24 परगना जिले के नरेंद्रपुर का है जहां छह मई भाजपा कार्यकर्ता के घर पर हमला किया गया और जब उसके पति ने बीच-बचाव की कोशिश की तो हमलावरों ने उस पर धारदार हथियारों हमला बोल दिया। घायल को अस्पताल पहुंचाया गया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।

 

Edited By: Sachin Kumar Mishra