राज्य ब्यूरो, कोलकाता। कोरोना वायरस से बचाव के लिए जारी लॉकडाउन के आदेश के उल्लंघन में बीते 24 घंटे के दौरान कोलकाता पुलिस ने 453 लोगों को गिरफ्तार किया है। यह गिरफ्तारी बुधवार शाम 5  बजे से गुरुवार शाम 5  बजे के बीच महानगर के विभिन्न स्थानों से हुई है। इसके अलावा कई लोगों को कान पकड़कर उठक- बैठक व चेतावनी देकर भी छोड़ दिया गया। इससे पहले बुधवार को भी निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने के आरोप में बंगाल के विभिन्न हिस्सों से 1200 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

हालांकि पुलिस- प्रशासन की सख्ती के चलते लॉकडाउन के दौरान बेवजह सड़कों पर बाहर घूमने व बाजारों में भीड़ लगाने वालों की संख्या में गिरावट आई है। गौरतलब है कि बंगाल में सोमवार शाम 5 बजे से ही लॉकडाउन जारी है। वहीं, प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार रात में आगामी 21 दिनों के लिए देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की। पीएम की घोषणा के बाद बुधवार सुबह में सामानों की खरीदारी के लिए कोलकाता सहित राज्यभर के बाजारों में लोगों की भारी भीड़ जुट गई। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई तेज करते हुए बेवजह भीड़ लगाने वालों व अनावश्यक रूप से इधर-उधर घूमने वालों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई शुरू की। बड़ी संख्या में लोगों की गिरफ्तारी के बाद कार्रवाई का असर दिखने लगा है।

कोलकाता पुलिस के लालबाजार मुख्यालय की ओर से बताया गया कि सबसे अधिक 112 गिरफ्तारियां नार्थ डिवीजन क्षेत्र से किया गया। सेंट्रल डिवीजन से 62 जबकि ईस्ट सेंट्रल डिवीजन से 75 लोगों की गिरफ्तारियां की गई। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जो लोग लॉकडाउन के दौरान अनावश्यक रूप से इधर-उधर घूम फिर रहे हैं और और दुकानों के इर्द-गिर्द भीड़ लगा रहे हैं उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। हालांकि गुरुवार को हावड़ा में एक भी गिरफ्तारी नहीं हुई। हावड़ा सिटी पुलिस के आयुक्त ने बताया कि लोगों को बेवजह घरों से बाहर नहीं निकलने के लिए पुलिस लगातार अभियान चला रही है। इसका असर अब दिखने लगा है। इस दिन हावड़ा सिटी पुलिस की इनफोर्समेंट ब्रांच ने कालाबाजारी रोकने व आवश्यक सामानों की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए करीब आठ बाजारों में अभियान भी चलाया।

लॉकडाउन के बीच में कोलकाता में चली गोली, एक जख्मी 

कोलकाता: कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए देशभर में लगे लॉकडाउन के बीच गुरुवार की दोपहर कोलकाता के रवींद्र सरोवर इलाका गोली की आवाज से थर्रा उठा। इस घटना में एक युवक गंभीर रूप से जख्मी हो गया। पुलिस सूत्रों के अनुसार लेक थाना क्षेत्र के रवींद्र सरोवर इलाके में कुछ युवक खाली जगह पर शराब पी रहे थे। उसी समय अचानक युवकों के बीच विवाद शुरू हो गया। कहासुनी हाथापाई तक पहुंच गई। अचानक उनमें से एक ने आग्नेयास्त्र निकाला और गोलियां चला दी। गोली लगने से एक युवक जख्मी हो कर जमीन पर गिर पड़ा। खबर मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंची तो देखा कि युवक गंभीर रूप से जख्मी हालत में पड़ा है। उसे स्थानीय निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। अस्पताल सूत्रों ने बताया कि उसकी शारीरिक स्थिति फिलहाल स्थिर है। घटनास्थल पर एक आग्नेयास्त्र मिला है। पुलिस ने आरोपितों को कुछ देर बाद गिरफ्तार कर पूछताछ शुरू कर दी है। परंतु, सवाल यह उठ ऱहा है कि लाकडाउन में वे लोग वहां कैसे पहुंचे। पुलिस इसकी जांच कर रही है।

Posted By: Vijay Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस