मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

- लता मंगेशकर की गीत 'एक प्यार का नगमा है' से लोकप्रिय हुई रानाघाट की रानू को संगीतकार व पत्रकार प्रीतम दे का मिला साथ, अर्जुनपुर क्लब के लिए रानू ने रिकॉर्ड किया गीत

जागरण संवाददाता, कोलकाता : तीनों पेशे से भले ही अलग हों, लेकिन तीनों में एक समानता है और वह है संगीत और इस संगीत ने ही तीनों को साथ लाने का काम किया। रानाघाट स्टेशन पर गाने वाली रानू मंडल, चाय विक्रेता विजय शील और पत्रकार प्रीतम दे ने रविवार को पार्क स्ट्रीट स्थित एक स्टूडियो में अर्जुनपुर क्लब के लिए गाने रिकॉर्ड किए। वहीं रानू को उम्मीद है कि पूजा की थीम पर गाए गए उनके गीत को सभी पसंद करेंगे। दरअसल, हाल ही में रानाघाट की रानू मारिया मंडल का संगीत सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसके बाद लगातार उन्हें ऑफर मिल रहे हैं और बंगाल में तो उनका क्रेज देखते बन रहा है। लता मंगेशकर के गीत 'एक प्यार का नगमा है' से लोकप्रिय हुई रानाघाट की रानू को संगीतकार व पत्रकार प्रीतम दे का साथ मिला और प्रीतम के प्रयास से अर्जुनपुर 'आमरा सबाई' क्लब के लिए उन्हें खुद का गाना गाने का मौका। इस गीत की खास बात यह है कि इसकी धुन एक चायवाले ने तैयार किया है, जो पिछले लंबे समय से रवींद्र सरोवर मेट्रो स्टेशन के बाहर चाय बेचता है। प्रीतम ने बताया कि वे अक्सर चाय विक्रेता विजय शील के दुकान पर चाय पीने को जाया करते हैं और इस दौरान उन्हें विजय के संगीत के प्रति लगाव के बारे में पता चला। ऐसे में रानू की गायिकी और विजय की संगीत साज को जोड़ उन्होंने रिकॉर्डिग की प्लानिंग की। इस बाबत जब उन्होंने अर्जुनपुर 'आमरा सबाई' क्लब के सदस्यों से बात की तो सभी ने सकारात्मक उत्तर दिया। जिसके बाद रविवार को पार्क स्ट्रीट स्थित एक स्टूडियो में 'तुमार री आश्रय मां' की रिकॉर्डिग संभव हो सकी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप