मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, हावड़ा : जिनका भाई खुद नरेंद्र मोदी हो, उसे कैसी चिंता! भाई-बहन के अटूट प्रेम को दर्शाता रक्षाबंधन के पर्व पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कलाई पर राखी बांधने का सौभाग्य पाकर इशरत जहां ऐसा ही महसूस कर रही हैं। तीन तलाक के खिलाफ लंबी कानूनी लड़ाई लड़ने वाली हावड़ा की इशरत जहां को रक्षाबंधन के पर्व के दो दिन पूर्व प्रधानमंत्री कार्यालय से टेलीफोन आया कि उन्हें दिल्ली में प्रधानमंत्री को राखी बांधनी है। कल तक अपने व परिवार की हिफाजत को लेकर चिंतित रहने वाली भाजपा नेता इशरत जहां का इस फोन के आने के बाद खुशी का ठिकाना न रहा। उन्होंने बताया कि जब उन्हें यह सूचना मिली तो उन्हें विश्वास ही नहीं हुआ कि उन्हें पीएम को राखी बांधनी है। प्रधानमंत्री को राखी बांधने के इस अवसर ने इशरत के जीवन संघर्ष को मान्यता प्रदान की है। उल्लेखनीय है कि भाजपा में शामिल होने के कारण इशरत जहां को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ा था। इसके बाद जब वह हनुमान चालीसा पाठ में शरीक हुई थी, तो उन्हें स्थानीय स्तर पर धमकियां मिलने लगी थी। कई मौके पर उन्हें सामाजिक बहिष्कार का सामना करना पड़ा था।

राखी के पर्व पर इशरत जहां ने बंगाल भाजपा नेता उमेश राय, सुरेंद्र जैन समेत अन्य नेताओं को भी राखी बांधी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप