मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

=भारत माता की मूर्ति तैयार करने वाला मूर्तिकार गिरफ्तार

= तृणमूल ने अपने पर लगे आरोप को बेबुनियाद बताया

जागरण संवाददाता,हावड़ा : स्वतंत्रता दिवस यानी 15 अगस्त को पूजा करने के लिए भारत माता को पंडाल में स्थापित किया गया था। आरोप है कि बदमाशों ने उनके दाहिने हाथ को तोड़ दिया और मूर्ति को पंडाल से बाहर निकाल दिया। यह घटना लिलुआ थानांर्गत चामराइल इलाके की है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के आरोप के अनुसार चामराइल ब्रिज के नीचे भारत माता की पूजा का आयोजन किया गया था। इसके लिए एबीभीपी द्वारा लिलुआ थाने में आवेदन पत्र सौंपकर पूजा करने की अनुमति मांगी गई लेकिन थाना ने आवेदन पत्र को पुलिस आयुक्त के पास भेज दिया। पूजा कमेटी का कहना है कि पुलिस आयुक्त के कार्यालय से आवेदन पत्र लिलुआ थाना में आ गया। पूजा कमेटी का कहना है कि उन्हें थाना से पूजा करने की अनुमति मिल गई थी। इसके बाद चामराइल ब्रिज के नीचे एक पंडाल में पूजा का आयोजन किया गया था। आरोप है कि देर रात कुछ तृणमूल समर्थित बदमाश भारत माता के दाहिने हाथ को तोड़ दिये। इसके बाद मूर्ति को पंडाल से निकाल कर बाहर रखकर चले गये। घटना को लेकर सनसनी फैल गई। मामले में टीएमसी समर्थित बदमाशों के नाम आते ही खंडन करने के लिए डोमजूर के विधायक व मंत्री का बयान आया। उन्होंने बताया कि आरोप बेबुनियाद है। इससे उनकी पार्टी का कोई लेना देना नहीं है। पुलिस अपने स्तर पर कार्रवाई कर सकती है। जबकि प्रदेश के भाजपा नेता सायंतन बसु ने बताया कि पश्चिम बंगाल बांग्ला देश का रूप ने चुका है। इस धरती पर भारत माता की जय बोलना अपराध है। पुलिस भारत माता की मूर्ति तैयार करने करने वाले मूर्तिकार को गिरफ्तार किया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप