- अंगुठा कटने के 24 घंटे बाद चिकित्सकों ने जोड़ा, अब पहले की तरह की कर रहा काम

- अंगुठा जुड़ने के बाद शिक्षक भी बेहद खुश

जागरण संवाददाता, कोलकाता : कलकत्ता मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के चिकित्सकों ने एक शिक्षक का कटा अंगुठा जोड़ कर सफलता का नया अध्याय जोड़ दिया। चिकित्सकों के इस कीर्तिमान की चारों ओर तारीफ भी हो रही है।

जानकारी के मुताबिक दक्षिण 24 परगना जिले के पाथरप्रतिमा निवासी अनूप कुमार प्रमाणिक का विगत छह अगस्त को बिजली मीटर का कारण करने के दौरान दाहिने हाथ का अंगुठा कट गया था। शिक्षक अनूप अपना कटा अंगुठा लेकर सीधे स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र पहुंच गए। पर वहां चिकित्सकों द्वारा हाथ खड़े कर दिए। इससे

हताश होने के बजाय अनूप अंगुठे को प्लास्टिक में लपेट कर कलकत्ता मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल पहुंच गए। यहां शिक्षक को तुरंत भर्ती ले लिया गया। हालांकि ऑपरेशन थियेटर नहीं मिलने के कारण चिकित्सकों ने कटे अंगुठे को फ्रिज में रख दिया। अगले दिन यानी सात अगस्त को प्लास्टिक सर्जन डॉक्टर प्रवीर जश, डॉक्टर शांतनु सूबा, डॉक्टर विश्वजीत मंडल और डॉक्टर अमियो वर्क की चार सदस्यीय टीम ने कड़ी मेहनत के बाद अनूप को ऑपरेशन कर चिकित्सकों ने अंगुठा जोड़ दिया। अंगुठा जुड़ने के बाद शिक्षक अनूप अब तेजी से स्वास्थ्य हो रहे हैं। अंगुठा भी पहले की तरह की काम करने लगा है। चिकित्सकों का कहना है कि हाथ या पैर कटे होते, तो 24 घंटे बाद उन्हें जोड़ पाना संभव नहीं हो पाता। पर शरीर का छोटा का हिस्सा कटा था और मरीज ने समझदारी दिखाई इसी कारण अंगुठा जोड़ा जा सका।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप