मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, कोलकाता : पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने शनिवार को मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा से आग्रह किया कि आयोग यह सुनिश्चित करे कि हर मतदाता बिना किसी भय के चुनाव में निष्पक्ष तरीके से अपने मताधिकार का प्रयोग कर सके। मुख्य चुनाव आयुक्त (सीइसी) शनिवार सुबह राजभवन पहुंचे थे। सीइसी के साथ राज्यपाल की करीब घंटे भर बातचीत चली। राजभवन की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार मुलाकात के दौरान राज्यपाल ने लोकसभा चुनाव बेहतर तरीके से संचालित करने के लिए अरोड़ा की सराहना की और कहा कि मताधिकार के अधिकार के तहत आयोग को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि प्रत्येक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग बिना किसी भय के कर सके। राज्यपाल ने इस बात पर जोर दिया कि स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव लोकतंत्र का सार है और लोकतंत्र के हित में इसे प्रभावी ढंग से बनाए रखने की जरूरत है।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के दौरान पश्चिम बंगाल में हिसा देखने को मिली थी। इससे पहले पंचायत चुनाव में भी जमकर हिसा देखने को मिली थी। अब 2021 में विधानसभा चुनाव होना है जिसे लेकर तमाम राजनीतिक दल अपने स्तर पर तैयारियों में जुटे हैं।

..........

सीइओ के अधिकारियों से मिले, पहुंचे आइआइएम जोका

मुख्य निर्वाचन आयुक्त अरोड़ा ने शनिवार को राज्यपाल धनखड़ से मुलाकात करने से पहले राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीइओ) कार्यालय के विभिन्न अधिकारियों के साथ मुलाकात की। इस क्रम में उन्होंने राज्य की मतदाता सूचियों में संशोधन का काम शुरू करने के बारे में चर्चा की। माना जा रहा है कि निर्वाचन आयोग के निर्देश पर पश्चिम बंगाल में विधानसभा की 294 सीटों की मतदाता सूचियों में संशोधन का काम शीघ्र शुरू होने वाला है। इसके बाद मुख्य चुनाव आयुक्त राज्यपाल से मुलाकात के बाद आइआइएम जोका के एक समारोह में शिरकत करने पहुंचे। वहां उन्होंने छात्रों से संवाद किया और इसके साथ ही दो दिवसीय दौरा समाप्त कर दिल्ली रवाना हो गए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप