- वैशाखी के आरोपों को बताया बकवास, कहा, मीडिया के कैमरे तले रोने से गलत नहीं हो सकता सही

जागरण संवाददाता, कोलकाता : वैशाखी बंद्योपाध्याय के मिल्ली अल-आमीन कॉलेज के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने और राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी व शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी पर लगाए गए गंभीर आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कोलकाता नगर निगम के पूर्व मेयर शोभन चटर्जी की पत्नी रत्ना चटर्जी ने कहा कि वैशाखी द्वारा लगाए गए आरोप आधारहीन है और केवल मीडिया के कैमरे तले आंसू बहाने मात्र से गलत सही साबित नहीं हो सकता है। खैर, ऊपर भगवान सब देख रहा है। कभी मैं भी रोई थी और आज उसे उसकी करनी भुगतनी पड़ रही है। इस औरत के बारे में कुछ कहने का मतलब है कि खुद को अपमानित करना। हालांकि मुझे लगा था वह आंसू बहा मुझे और मेरे पिता पर निशाना साधेगी, लेकिन उसने ऐसा नहीं किया, लेकिन जो भी हो वह नाटक अच्छा कर लेती है। वहीं राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने वैशाखी द्वारा लगाए गए आरोपों पर दुख प्रकट करते हुए कहा कि उन्होंने जो भी आरोप लगाए हैं उसमें तनिक भी सच्चाई नहीं है। गत 23 जुलाई को शोभन से मुलाकात और वैशाखी के साथ घटे मामले का आपस में कोई मेल ही नहीं है। अगर उन्हें लगता है कि किसी साजिश के तहत उन्हें अपमानित किया गया है तो वो लिखित में अपनी शिकायत कर सकती है। उक्त मामले में कानूनी कार्रवाई होगी। आगे उन्होंने कहा कि उत्तेजित होकर फैसले नहीं लिए जाते हैं। इसलिए पहले शांत दिमाग से विचार करें, फिर आगे कुछ करें। वहीं शोभन से मुलाकात के संदर्भ में उन्होंने कहा कि बड़ा भाई होने के नाते उसे पार्टी में सक्रिय होने को कहा था। पिछले लंबे समय से वह पार्टी से दूरी बनाए हुए हैं, सो अपने रूठे भाई को मनाने गया था न कि किसी को अपमानित करने या फिर साजिश करने। इधर, बुधवार को मिल्ली अल-आमीन कॉलेज के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद मीडिया कर्मियों से मुखातिब हुई वैशाखी बंद्योपाध्याय ने राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी पर प्रहार करते हुए कहा कि इन दोनों नेताओं के इशारे पर ही उन्हें बार-बार कॉलेज में अपमानित किया गया और मौजूदा आलम यह है कि कॉलेज परिसर में सांप्रदायिक वातावरण तैयार किया जा रहा है। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि जानबूझकर सोशल मीडिया पर उनके खिलाफ कुप्रचार कर उन्हें बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। वे यही नहीं थमी, बल्कि लगे हाथ राज्य की मुख्यमंत्री पर भी उन्होंने जमकर प्रहार किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने मेरे पति से कहा था कि मैं शोभन को लेकर घूम रही हूं इसलिए उन्होंने शोभन को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया। हालांकि इस दौरान वैशाखी के साथ कोलकाता नगर निगम के पूर्व मेयर व विधायक शोभन चटर्जी भी मौजूद थे।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran