कोलकाता, एएनआई। तिहाड़ जेल की एक महिला कैदी ने दिल्ली पुलिस डीएपी थर्ड बटैलियन के एक जवान पर उससे दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। आरोप में महिला कैदी ने कहा है कि जब उसे ट्रेन से वेस्ट बंगाल से दिल्ली लाया जा रहा था तब 3-4 अगस्त की रात को उसके साथ चलती ट्रेन के बाथरूम में डीएपी के जवान ने दुष्कर्म किया। वह रात के वक्त जबरदस्ती ट्रेन के उस टॉयलेट में घुस गया, जिसमें वह फ्रेश होने के लिए गई थी। उसने उन्हें जान से मारने की धमकी देकर दुष्कर्म किया।

महिला कैदी ने दिल्ली आने पर अपनी शिकायत तिहाड़ जेल अधिकारियों को दी। इसके बाद मामला दिल्ली पुलिस को रेफर किया गया और पीड़ित महिला कैदी का डीडीयू अस्पताल में मेडिकल कराया गया। बताया जाता है कि महिला कैदी का डीडीयू अस्पताल में मेडिकल रविवार को कराया गया। डॉक्टरों ने कुछ सैंपल जांच के लिए भेज दिए हैं। रिपोर्ट आने के बाद ही सच्‍चाई का पता लग पाएगा।

महिला कैदी के खिलाफ दिल्ली के भजनपुरा और वेस्ट बंगाल में दो मामले दर्ज हैं। पश्चिम बंगाल में दर्ज एक मामले के सिलसिले में उन्हें एक अगस्त को वहां कोर्ट में पेश करना था। इसके लिए दिल्ली से डीएपी की दो महिला और एक मेल पुलिसकर्मी ट्रेन से वेस्ट बंगाल गए थे। आरोप है कि वहां से वापसी में 3-4 अगस्त की देर रात ट्रेन में सब सोए हुए थे। महिला कैदी डीएपी वाले से टॉयलेट जाने के लिए बोला। पीड़ित महिला कैदी को दो महिला पुलिसकर्मी टॉयलेट लेकर गईं। महिला कैदी ने आरोप लगाया है कि टॉयलेट के बाहर पहरा दे रहीं दो महिला पुलिसकर्मियों को डीएपी के पुरुष पुलिसकर्मी ने यह कहकर ट्रेन के अंदर जाने के लिए बोल दिया कि वह यहां खड़ा है। वे अंदर जाएं।

आरोप है कि फिर जैसे ही दोनों महिला पुलिसकर्मी अपने कोच में अंदर गईं मेल पुलिसकर्मी ने जबर्दस्ती टॉयलेट का गेट खोलकर उसे जान से मारने की धमकी देकर दुष्कर्म किया। ट्रेन आनंद विहार रेलवे स्टेशन पर आई। वे लोग तिहाड़ जेल पहुंचे। इसके बाद महिला कैदी ने इसकी शिकायत जेल के अधिकारियों से की। जेल के उच्च अधिकारियों को जानकारी देने के साथ ही पुलिस को भी इस बारे में आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए बताया गया।

मामले में पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दुष्कर्म का आरोप एक महिला कैदी ने लगाया है। सारे तथ्यों को देखा जा रहा है और मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है। 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Preeti jha