-हाजरा लॉ कालेज में प्रथम वर्ष का था छात्र, जज बनने का था सपना

-पुलिस का अनुमान, मानसिक तनाव में की खुदकशी जागरण संवाददाता, कोलकाता : मोबाइल पर गेम खेलने को लेकर मां की फटकार बेटे को सहन नहीं हुई। युवक ने पंखे पर फंदा लगाकर खुदकशी कर ली। उसने लॉ की पढ़ाई पूरी कर जज बनने का सपना संजोए रखा था। उधर, पुलिस ने मानसिक तनाव के चलते खुदकशी करने की आशंका जताई है। घटना स्थल से कोई सुसाइड नोट नहीं मिलने से मौत की वजह को लेकर संशय बरकरार है। सूत्रों के अनुसार रिजेंट पार्क थाना अंतर्गत सातबीघा इलाका निवासी सौम्यदीप पाल हाजरा लॉ कालेज में प्रथम वर्ष का छात्र था। रविवार सुबह सौम्यदीप कमरे में लगे पंखे पर फंदा लगाकर लटक गया। परिजनों की नजर पड़ते ही उसे उतार कर एमआर बांगुर अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक की मां के अनुसार काफी दिनों से सौम्यदीप को मोबाइल गेम की लत लग गई थी। इसको लेकर कई बार उसकी डांट लगाई गई थी। मोबाइल गेम की वजह से आए दिन होने वाली खुदकशी की घटनाओं का भी हवाला दिया गया था। उसने बताया था कि वह ऐसी हरकत कभी नहीं करेगा। लेकिन इतनी से बात पर वह इतना बड़ा कदम उठा लेगा यह किसी ने नहीं सोचा था। वह लॉ की पढ़ाई कर भविष्य में जज बनना चाहता था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। छात्र ने खुदकशी की है या इसके पीछे कोई और वजह है जिसे तलाशने के लिए पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran