जागरण संवाददाता, हावड़ा : रेल प्रशासन एवं आरपीएफ द्वारा जागरूकता अभियान चलाए जाने के बावजूद युवा वर्ग सजग होने को तैयार नहीं है। कान में हेड फोन लगाकर संगीत की धुन में रेल पटरी के किनारे चल रहा एक छात्र ट्रेन की चपेट में आ गया। घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। उधर, बंडेल और बांसबेरिया में भी रेल पटरी पार करते वक्त दो लोग ट्रेन से कट गए। सूत्रों के अनुसार शनिवार शाम करीब 6 बजे चुंचुड़ा रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर कान में हेड फोन लगाकर और छाता लिए एक छात्र रेल पटरी के किनारे संगीत का आनंद लेता हुआ चल रहा था। इसी बीच डाउन कटवा लोकल आ गई। मोटरमैन के हार्न बजाने के बावजूद कान में हेड फोन होने की वजह से वह हार्न नहीं सुन पाया। ट्रेन ने उसे अपनी चपेट में ले लिया। घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। मृतक की शिनाख्त श्रेष सामंत (17) के रूप में हुई है। वह चुंचुड़ा के मोयनाडांगा का रहने वाला था और 11वीं का छात्र था। वह ट्यूशन पढ़ने जा रहा था। उधर, शाम करीब सात बजे बंडेल तथा सुबह बांसबेरिया में रेल पटरी पार करते वक्त ट्रेन की चपेट में आकर दो लोगों की मौत हो गई। मृतकों की शिनाख्त नहीं हो पाई है। जीआरपी ने तीनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran