-मेट्रो स्टेशन व पूजा पंडालों से दो महिलाओं संग 16 दबोचे, चोरी के 12 मोबाइल बरामद

-पुलिस ने पंडालों में खोए 15 बच्चों को किया बरामद, परिजनों के सुपुर्द किए 13 बच्चे जागरण संवाददाता, कोलकाता : कोलकाता पुलिस की सक्रियता के चलते दुर्गा पूजा के अवसर पर अलग अलग स्थानों से 162 लोगों को विभिन्न आरोपों में गिरफ्तार किया गया। इनमें से दो महिलाओं समेत 16 लोगों के पास से चोरी के 12 मोबाइल बरामद किए गए। इसके अलावा पूजा पंडालों से 15 गुमशुदा बच्चों को बरामद किया गया जिसमें से 13 को उनके परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया। सूत्रों के अनुसार दुर्गा पूजा के अवसर पर आपराधिक वारदातों को रोकने के लिए महानगर के विभिन्न स्थानों पर पुलिस के साथ ही खुफिया विभाग की टीमें लगाई गई थीं। इसके तहत कोलकाता पुलिस की एंटी राउडी स्क्वाड (एआरएस) ने भीड़भाड़ के बीच गलत आचरण के लिए 144 लोगों को गिरफ्तार किया। इसके अलावा एंटी बर्गलरी स्क्वाड (एबीएस) ने दो लोगों को गिरफ्तार कर उनके पास से चोरी के 4 मोबाइल बरामद किए। कोलकाता पुलिस की वाच सेक्शन की टीम ने विभिन्न मेट्रो स्टेशनों एवं पूजा पंडालों से दो महिलाओं समेत 16 लोगों को गिरफ्तार कर उनके पास से चोरी के 12 मोबाइल बरामद किए। उधर, बंधु कोलकाता की पहल पर पूजा पंडालों में परिजनों से बिछड़े 15 बच्चों को बरामद किया गया। इनमें से 13 बच्चों को उनके परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया जबकि 2 बच्चों को होम में भेज दिया गया। पूजा पंडालों में सात लोगों की तबीयत बिगड़ जाने पर उन्हें अस्पतालों में भर्ती करवाया गया।

------------------

विसर्जन के लिए घाटों में रहे सुरक्षा के चाक चौबंद बंदोबस्त

जागरण संवाददाता, कोलकाता : दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन को देखते हुए हुगली नदी के विभिन्न घाटों पर सुरक्षा के चाक चौबंद बंदोबस्त किए गए। कोलकाता पुलिस के अतिरिक्त जवानों के साथ ही रिवर पुलिस और गोताखोरों को भी लगाया गया। खुफिया विभाग के अधिकारी भी तैनात रहे। सूत्रों के अनुसार बुधवार को एकादशी के बावजूद घाटों में विसर्जन के लिए प्रतिमाओं का तांता लगा रहा। विसर्जन के दौरान किसी प्रकार का माहौल खराब नहीं हो इसके लिए कोलकाता पुलिस भी बेहद सक्रिय रही। घाटों में आपदा प्रबंधन टीमों के साथ कोलकाता पुलिस के अतिरिक्त सुरक्षा कर्मियों को लगाया गया। विसर्जन के दौरान किसी तरह का हादसा नहीं हो सके इसके लिए एहतियात बरती गई। नदी में एक सीमा तक प्रवेश के बाद उतरने में रोक लगा दी गई। गहरे पानी में कोई प्रवेश नहीं कर सके इस पर भी पुलिस की नजर रही। रिवर पुलिस भी वोट से गश्त कर हरेक हालात पर नजर रखी रही। कोलकाता पुलिस के आला अधिकारी पर घाटों का निरीक्षण करते रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप