-दक्षिण 24 परगना जिले के विष्णुपुर और मालदा जिले के कालियाचक में हुई दुर्घटनाएं

- कहीं, एयरपोर्ट से तो कहीं शादी समारोह से लौट रहा था परिवार

जागरण संवाददाता, कोलकाता : पश्चिम बंगाल में दो अलग-अलग जिलों में गुरुवार को हुए दो सड़क हादसों में 14 लोगों की मौत हो गई। इसी हादसे में 10 अन्य लोग घायल हो गए। मरने वालों की पहचान आकाश अली, सलीना बीबी (पत्नी), अल्ताफ अली (बेटा), इस्मातारा (बेटी), मुनाफ अली (भाई), मिराज शेख (रिश्तेदार) फुलीजान बीबी (रिश्तेदार), बापन घोष, (21), सुबोध घोष (50), तपन मंडल (25), शेखर घोष (28), धनंजय मंडल (32) और सलोवर शेख (35) के रूप में हुई। एक मृतक की पहचान नहीं हो सकती है। इसमें आकाश अली, सलीना बीबी, अल्ताफ अली, इस्मातारा, मुनाफ अली, मिराज शेख और फुलीजान बीबी एक ही परिवार के हैं। सभी दक्षिण 24 परगना जिले के विष्णुपुर थाना क्षेत्र के उच्छेखाली इलाके के रहने वाले हैं। जबकि बापन घोष, सुबोध घोष, तपन मंडल, शेखर घोष, धनंजय मंडल और सलोवर शेख मालदा जिले के कालियाचक थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं।

जानकारी के मुताबिक पहली घटना दक्षिण 24 परगना के विष्णुपुर इलाके में घटी। 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस की सुबह 5.30 बजे आकाश अपनी पत्नी, बच्चों और भाइयों व रिश्तेदारों के साथ एसयूवी कार से नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय (एनएससीबीआइ) हवाई अड्डे से अच्छेखाली स्थित अपने घर लौट रहे थे। तब मूसलधार बारिश हो रही थी। घर से दो किलोमीटर पहले ही उच्छेखाली हाई स्कूल के पास चालक अचानक वाहन पर से अपना नियंत्रण खो बैठा और गाड़ी समेत पास ही स्थित तालाब में जा गिरा। काफी देर बाद वहां से गुजरने वाले लोगों की नजर तालाब में बहते शवों पर पड़ी, तो पास ही स्थित मस्जिद में लगे माइक की मदद से इसकी घोषणा करवाई गई। बाद में बड़ी संख्या में लोग पहुंच गए। खबर पाकर विष्णुपुर थाने की पुलिस भी पहुंच गई। एक-एक कर तालाब में बह रहे लोगों को बाहर निकाल कर अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने सभी को मृत घोषित कर दिया। प्राथमिक पड़ताल के आधार पर पुलिस ने बताया कि सभी की मौत तालाब में डूबने से हुई है।

दूसरी घटना मालदा जिले के कालियाचक इलाके में घटी। गुरुवार की रात में ही शादी समारोह में शामिल होने के बाद 17 लोग एक सूमों में सवार होकर कालियाचक से गाजोल की ओर लौट रहे थे। रास्ते में बाखरापुर स्थित राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच) 34 पर खड़े होकर अपने दूसरे साथियों का इंतजार कर रहे थे। तभी पीछे से तेज रफ्तार में गुजर रहे ट्रक ने धक्का मार दिया। टक्कर इतनी भीषण थी कि एसयूवी सड़क से नीचे गढ्डे में गिर गई और इसमें सवार 17 लोगों में से तीन की मौके पर ही मौत हो गई। बाद में पुलिस और स्थानीय लोगों की मदद से घायलों को मालदा मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल ले गई, तीन और लोगों की मौत हो गई।

मालदा के पुलिस अधीक्षक आलोक राजोरिया ने बताया कि गंभीर रूप से घायल छह लोगों को कोलकाता के एक अस्पताल में रेफर किया गया। इनमें से एक की मौत रास्ते में हो गई। बाकी घायलों का मालदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में इलाज चल रहा है। उन्होंने बताया कि घटना के बाद लॉरी चालक फरार हो गया था लेकिन पुलिस ने बाद में उसे गजोल से गिरफ्तार कर लिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप