खड़गपुर, जेएनएन। पश्चिम बंगाल में पश्चिम मेदिनीपुर जिला अंतर्गत मेदिनीपुर के मियां बाजार स्थित जोड़ा मस्जिद में आयोजित हजरत सय्यद शाह मुर्शेद अली अल कादरी के सालाना उर्स में शामिल होने के लिए रविवार की सुबह करीब छह बजे बांग्लादेश से करीब दो हजार श्रद्धालु विशेष ट्रेन से मेदिनीपुर पहुंचे।

इस साल यहां 118वां सालान उर्स मनाया जा रहा है। प्रति वर्ष की तरह एक दिन की धार्मिक यात्रा के बाद श्रद्धालु सोमवार की देर रात को इसी विशेष ट्रेन से बांग्लादेश देश लौट जाएंगे। बताया गया कि सालाना उर्स में भाग लेने के लिए बांग्लादेश के अंजुमन कादरी नामक संगठन की अगुवाई में राजबाड़ी जिले से श्रद्धालु 1903 से आ रहे हैं। तब बांग्लादेश भारत का ही अभिन्न अंग था। हालांकि यह सिलसिला आज भी बदस्तूर जारी है।

आयोजन समिति के अनवर खान, हाजेद अली शाह आदि के मुताबिक सय्यद शाह मुर्शेद अली अल कादरी मोहम्मद पैगबर के वंशज थे। 118 साल पहले उनके इंतकाल को ही उर्स के रूप में मनाया जाता है। बांग्लादेश में भी उर्स के प्रति गहरी श्रद्धा है। 

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप