संवाद सूत्र, मेदिनीपुर : बिहार के मुजफ्फरपुर से साइकिल से मेदिनीपुर पहुंचे सोहन लाल आजाद बुधवार को साइकिल से केशपुर स्थित शहीद खुदीराम बोस की जन्मस्थली केशपुर पहुंचे। स्थानीय मोहबनी स्थित वेदी को उन्होंने प्रणाम किया और परिजनों से बातचीत भी की।

बता दें कि 57 वर्षीय आजाद साइकिल चला कर ही मुजफ्फरपुर से मेदिनीपुर पहुंचे। स्थानीय सामाजिक संस्था मेदिनीपुर डॉट इन के बुलावे पर वे यहां आए। मंगलवार को समूचे देश के साथ मेदिनीपुर में भी महान शहीद खुदीराम बोस की 131वीं जयंती मनाई गई थी। जिसमें आजाद ने भाग लिया। उनकी दिली ख्वाहिश खुदीराम की जन्मस्थली देखने की थी। केशपुर का मोहबनी खुदीराम का पैतृक स्थान है। हालांकि खुदीराम मेदिनीपुर स्थित हबीबपुर में पले-बढ़े थे। आजाद ने कहा कि खुदीराम बोस की जन्मस्थली देख कर और परिचितों से मिल कर उनका जीवन धन्य हो गया, क्योंकि यही उनका शौक है। वे भगत सिंह समेत क्रांतिकारियों की जन्मस्थली की यात्रा कर चुके हैं। उन्होंने तय किया है कि चाहे जितनी दूर जाना पड़े, लेकिन साइकिल से ही जाएंगे। इस काम में उन्हें हर किसी का सहयोग मिलता है। यही उनकी उपलब्धि है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप