संवाद सूत्र, हल्दिया : पूर्व मेदिनीपुर जिला अंतर्गत राजनीतिक हलकों में मंगलवार को जारी चुनाव प्रचार के बीच उच्च न्यायालय के फैसले का मुद्दा पूरी तरह से छाया रहा। हर खेमे ने फैसले की अपने-अपने नजरिए से व्याख्या की।

चंडीपुर के हांसछोड़ा में आयोजित दलीय सभा को संबोधित करते हुए भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप दास ने कहा कि न्यायालय का फैसला टीएमसी की हार है। जो मनमाने तरीके से चुनाव कराना चाहती थी। उम्मीद है शासक दल को इससे सबक मिलेगा। चुनाव बाद इसके नेताओं को अपनी असलियत का अंदाजा हो जाएगा। सभा में वरिष्ठ नेता मलय सिन्हा, मानस कर तथा विजन पाणिग्रही आदि उपस्थित रहे, वहीं सोमवार को ही रामनगर में आयोजित चुनावी सभा में बोलते हुए कांथी के सांसद दिव्येंदु अधिकारी ने कहा कि चुनाव से वे ही भाग रहे हैं जिनका जनाधार नहीं है। हम हर परिस्थिति में चुनाव के लिए तैयार हैं, क्योंकि जनता का आर्शीवाद हमारे साथ है। माकपा की ओर से सूताहाटा के तोड़खाली में चुनाव प्रचार करते हुए माकपा नेता निरंजन सिही और श्यामल माईती ने कहा कि न्यायालय का हालिया फैसला मील का पत्थर साबित होगा, क्योंकि इससे ई नामांकन का रास्ता साफ होगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप