जेएनएन, खड़गपुर : देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की 128वीं जयंती का पालन Þबाल दिवस'के रूप में पूर्व व पश्चिम मेदिनीपुर जिले में भी मंगलवार को किया गया। इस मौके पर पश्चिम मेदिनीपुर जिला अंतर्गत खड़गपुर के वार्ड-पांच अंतर्गत देवलपुर स्थित होली बड स्कूल में रंगारंग सांस्कृतिक प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

भाषण प्रतियोगिता के माध्यम से बच्चों ने नेहरू की जीवनी व बाल दिवस की सार्थकता के विषय में अपने विचार व्यक्त किए। नृत्य व फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया। कार्यक्रम में पूर्व बैंक प्रबंधक रियाज मोहम्मद, स्कूल की प्राचार्य मेहजबीन चौधरी, जाहिर चौधरी, शिक्षिकाओं समेत काफी तादाद में बच्चे व अभिभावक मौजूद रहे।

अपने वक्तव्य में रियाज मोहम्मद ने होली बड स्कूल की ओर से कम शुल्क में बच्चों को दी जा रही बेहतर शिक्षा की सराहना करने के साथ ही कई महत्वपूर्ण टिप्स भी दिए। इधर वार्ड-4 अंतर्गत पंचबेड़िया स्थित मिशन लि¨वग स्कूल में भी बाल दिवस का पालन धूमधाम से किया गया। स्कूल के प्राचार्य आलोक एरिक व रेक्टर शालिनी एरिक ने बताया कि बच्चों को प. नेहरू के जीवन के विषय में जानकारी देने के साथ ही उनके द्वारा दिखाए गए पथ पर चलने के लिए उन्हें प्रोत्साहित किया गया। साथ ही बच्चों के लिए फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया, जिसमें बच्चों ने झांसी की रानी, पुलिस मैन, डॉक्टर आदि की वेशभूषा धारण उनके विषय में पूरे आत्मविश्वास के साथ अपने विचार रखे। फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता का मुख्य आकर्षण ट्रैफिक सिग्नल लाइट की वेशभूषा धारण करने वाली छात्रा रही, जिसने कविता के माध्यम से ट्रैफिक सिग्नल लाइट की विशेषताओं का वर्णन किया। इनके अलावा स्कूल की शिक्षिकाएं मधुश्री भट्टाचार्य व देवश्री भट्टाचार्य ने सांस्कृतिक नृत्य पेश किया। कार्यक्रम का संचालन शिक्षिका नाजिया परवीन ने किया। वहीं मेदिनीपुर सदर के नयाग्राम प्राइमरी स्कूल में आयोजित बाल दिवस समारोह के दौरान करीब 150 बच्चों को फुचका खिला कर उनके चेहरे पर मुस्कान लाने का प्रयास किया गया, वहीं चुआडांगा हाइ स्कूल सहित अन्य स्कूलों में भी बाल दिवस समारोह का पालन किया गया। पूर्व मेदिनीपुर जिला अंतर्गत सभी प्राइमरी स्कूलों में पुलिस प्रशासन की ओर से बाल दिवस का पालन करते हुए बच्चों को शिक्षण सामग्री व उपहार प्रदान किया गया। पुलिस अधीक्षक आलोक राजोरिया ने कहा कि बाल दिवस बच्चों का ही दिन होता है। इसलिए पुलिस की ओर से स्कूलों में बच्चों को शिक्षण सामग्री व उपहार प्रदान कर उनके चेहरे पर मुस्कान लाई गई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस