जागरण संवाददाता, खड़गपुर : बीएसएनएल खड़गपुर डिस्ट्रिक्ट में काम करने वाले ठेका मजदूरों ने अपनी मांगों को लेकर किए जा रहे धरने के विषय में राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को जानकारी देते हुए मदद की गुहार लगाई गई है। Þदीदी के बोलो' नंबर पर कई मजदूरों ने संपर्क कर अपनी पीड़ा बयां की। करीब 216 ठेका मजदूर यहां बुधवार से अनिश्चितकालीन धरना दे रहे हैं। दस माह का बकाया वेतन देने तथा किसी भी मजदूर की छंटाई न करने की मांग को मजदूर प्रमुखता से उठा रहे हैं।

मजदूरों की हड़ताल के समर्थन में खड़गपुर के टीएमसी नेताओं ने भी आवाज उठाई गई। टीएमसी नेताओं में नपाध्यक्ष प्रदीप सरकार, उपाध्यक्ष शेख हनीफ, सभासद रविशंकर पांडेय, जवाहर लाल पाल, देवाशीष चौधरी आदि भी बीएसएनएल कार्यालय में जाकर हड़ताली कर्मचारियों के पक्ष में आवाज बुलंद की। आइएनटीटीयूसी सर्मिथत बीएसएनएल की कैजुएल एंड कांट्रेक्ट वर्कर्स यूनियन के कार्यकारी अध्यक्ष तपन सेनगुप्ता ने कहा कि किसी भी कर्मचारी को यदि दस माह से वेतन न दिया जाए, तो उसके परिवार की क्या हालत होगी। इसे सहज ही समझा जा सकता है। ठेका पर काम करने वाले 216 मजदूरों को दस माह से वेतन नहीं दिया गया है। उल्टे मजदूरों की छंटनी का प्रयास भी शुरू कर दिया गया है। वेतन देने व मजदूरों की छंटाई न करने की मांग को लेकर इसके पहले 17 जुलाई से लेकर 23 जुलाई तक बीएसएनएल कार्यालय का घेराव किया गया था, लेकिन समस्या का समाधान न होने पर अब अनिश्चिलकालीन धरना शुरू किया गया है। हमलोग सीएम से भी मदद की गुहार लगा रहे हैं। ताकि मजदूरों व उनके परिजनों को दो वक्त की रोटी नसीब हो सके।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप