जागरण संवाददाता, खड़गपुर : पश्चिम मेदिनीपुर जिला अंतर्गत रेलनगरी खड़गपुर स्थित भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान में रविवार को औद्योगिक अनुसंधान व नवाचार इकाई डीएचआइ सेंटर ऑफ एक्सिलेंस इन एडवांस्ड मैन्युफैक्च¨रग टेक्नोलॉजी का भूमिपूजन संपन्न हुआ। कार्यक्र में भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम केंद्रीय राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद रहे। बाबुल सुप्रियो के साथ उनकी बेटी भी इस कार्यक्रम में मौजूद रही, वहीं आइआइटी खड़गपुर के निदेशक प्रो. पार्थ प्रतिम चक्रवर्ती, उप निदेशक प्रो. श्रीमान कुमार, डीएचआइ सेंटर ऑफ एक्सिलेंस इन एडवांस्ड मैन्युफैक्च¨रग टेक्नोलॉजी के प्रोफेसर-इन-चार्ज प्रो. एसके पाल, प्रो. पल्लव दासगुप्ता आदि मुख्य तौर पर उपस्थित रहे।

भूमिपूजन के पश्चात केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने इनोवेशन लैब सहित पूरे केंद्र का परिभ्रमण किया। इससे पूर्व आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि उनके मंत्रालय की ओर से इस केंद्र की स्थापना का मुख्य उद्देश्य कम लागत के साथ उच्च उत्पादकता वाले स्थायी उत्पादों के लिए पूंजीगत सामान क्षेत्र में स्मार्ट मशीनों के निर्माण के लिए नवाचार को प्रोत्साहित करना है। इस दिशा में आइआइटी खड़गपुर की ओर से मंत्रालय को पूरा सहयोग मिला और नए आइडिया के साथ इसे शुरू करने का विचार किया गया। उन्होंने कहा कि यह इकाई राज्य के अत्याधुनिक औद्योगिक समतुल्य जैसे उद्योग 4.0 सक्षम रोबोटिक वे¨ल्डग सुविधा का निर्माण करेगी। केंद्र में उद्योग पैमाने सीटी स्कैन मशीन, औद्योगिक नौकरियों के लिए संकर योज्य निर्माण सुविधा, संरचनात्मक कंपन परीक्षण के लिए रोबोट 3 डी लेजर स्कैनर और कई अन्य अनुसंधान कार्य संभव होंगे। यह केंद्र 40,000 वर्गफीट के दायरे में है। अनुसंधान के लिए कुछ उच्चस्तरीय मशनें भी लगाई गई हैं। और भी मशीनें लगाई जाएंगी।उन्होंने कहा कि इस प्रोजेक्ट की कुल लागत 65.19 करोड़ रुपये है। उनके मंत्रालय की ओर से 47.62 करोड़ रुपये की राशि स्वीकृत की गई है। अतिरिक्त फंड के तौर पर औद्योगिक साझेदारों द्वारा 17.57 करोड़ रुपये की राशि बढ़ाई गई है। केंद्र के विकास के लिए आइआइटी खड़गपुर द्वारा अधोसंरचना के विकास में पूर्ण समर्थन दिया जा रहा है। आइआइटी खड़गपुर के निदेशक पार्थ प्रतिम चक्रवर्ती ने केंद्रीय मंत्री बाबुल चक्रवर्ती का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए उम्मीद जताई कि यह केंद्र औद्योगिक तकनीक के क्षेत्र में नए मानदंड स्थापित करेगा।

Edited By: Jagran