संवाद सूत्र, नागराकाटा: केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए मदद का दौर जारी है। कोई पैसा एकत्र कर राहत कोष में भेज रहे हैं, तो कोई भोजन सामग्री व अन्य पोशाक भेज रहे हैं। इस क्रम में अलीपुरद्वार के माझेरडाबरी चाय बागान की ओर से केरल बाढ़ पीडि़तों के लिए एक हजार किलोग्राम चायपत्ती भेजी गई। रविवार को विवेक एक्सप्रेस से चायपत्ती केरल भेजा गया। बैंगलुरु तक ट्रेन के माध्यम से फिर सड़क मार्ग से ही चायपत्ती बाढ़ पीड़ितों तक पहुंचाई जाएगी।

चाय बागान प्रबंधन की ओर से बताया गया कि अच्छी गुणवत्ता वाली चायपत्ती ही सहायता के तौर पर केरल भेजी गई है। राहत शिविर में रहने वाले बाढ़ पीड़ितों की सुविधा के लिए 100 ग्राम के पैकेट बनाए गए हैं। बागान मैनेजर चिन्मय धर ने कहा कि पश्चिम बंगाल की तरह केरल के लोग चाय के प्रेमी होते हैं। कई चाय बागान भी हैं। लेकिन बाढ़ के चलते काफी दिनों तक चाय का उत्पादन संभव नहीं हो पाएगा। इसी कारण कुछ राहत के तौर पर यहां से एक हजार किलोग्राम चायपत्ती राहत शिविर में भेजा गया है। मालिक संगठन टी एसोसिएशन ऑफ इंडिया (टाई) के डुवार्स शाखा के महासचिव राम अवतार शर्मा ने कहा कि माल एसडीओ के माध्यम से पहले भी दूसरे बागानों से चायपत्ती केरल के राहत शिविरों में भेजा जा चुका है। माझेरडाबरी चाय बागान ने एक हजार किलोग्राम चायपत्ती भेजकर प्रशंसनीय काम किया है। दूसरे बागानों को भी सहायता के लिए आगे आना चाहिए।

Posted By: Jagran