संवाद सूत्र, वीरपाड़ा: मजदूरी बढ़ाने की मांग को लेकर गुरुवार को भी वीरपाड़ा अस्पताल के सफाई कर्मियों ने काम बंद रखकर अपना विरोध प्रकट किया। शाम को अस्पताल अधीक्षक से मांग पूरी करने का आश्वासन मिलने के सफाई कर्मियों ने आंदोलन वापस लिया। बंगाल बासफोड़ एंड हरिजन वेलफेयर आर्गेनाइजेशन ने सफाई कर्मियों का दैनिक मजदूरी 500 रुपये करने, महीने के शुरूआत में ही वेतन देने, अस्थाई रिक्त स्थानों को भरने समेत 9 सूत्री मांगों को लेकर सफाई कर्मी आंदोलन कर रहे थे।

अस्पताल में कार्यरत शंभू बासफोड़ ने कहा कि सफाई कर्मी अपने अधिकारों से वंचित हो रहे हैं। संगठन के सदस्यों के साथ अश्लील व्यवहार किया जाता है। वर्तमान समय में उनलोगों को प्रतिदिन 200 रुपये मजदूरी दिया जा रहा है। वे लोग गत 13-14 वर्षो से यहां कार्यरत हैं। लेकिन मजदूरी नहीं बढ़ाई जा रही है। उक्त समस्या को लेकर स्वास्थ्य अधिकारियों को कई बार ज्ञापन भी दिया जा चुका है। वर्तमान समय में महंगाई आसमान छू रही है। इतने कम मजदूरी में परिवार चलाना काफी मुश्किल होता जा रहा है। इसलिये मजबूरन उनलोगों ने काम बंद कर अपना विरोध जताया है।

Posted By: Jagran