- डुआर्स के बंद रेड बैंक चाय बागान के श्रमिकों ने जंगल सफाई की मांग की, बीडीओ ने दिया आश्वासन

संवाद सूत्र, बानरहाट: लगातार हाथियों के उत्पात व तेंदुए के हमले से परेशान डुआर्स के बंद रेड बैंक चाय बागान के श्रमिकों ने सोमवार को 31 नंबर राष्ट्रीय राजमार्ग जाम करके अपना रोष प्रकट किया। जंगल साफ कराने की मांग को लेकर दोपहर 12 बजे से श्रमिकों ने सड़क जाम शुरू कर दिया। इसकी सूचना मिलते ही धुपगुड़ी के बीडीओ शंखदीप दास, जलपाईगुड़ी जिला के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) डेंडूप शेरपा मौके पर पहुंचे। यहां लोगों की समस्याएं सुनकर आश्वासन दिया गया, लेकिन लोग शाम तक सड़क पर बैठे रहे।

गौरतलब है कि गत शुक्रवार को चाय बागान में घास काटने के दौरान हाथी के हमले में जाहिदा खातुन की मौत हो गई थी। एक अन्य श्रमिक को भी गंभीर चोटें आई थी। माना जा रहा है कि काफी समय से बागान बंद होने के कारण पूरे इलाके में जंगल हो गया है। इसमें हाथी व तेंदुआ छिपा रहता है। प्रतिदिन ही शाम होने के बाद रिहायसी इलाकों में घुसकर उत्पात मचाया जाता है। फलस्वरूप शाम होने के बाद पूरे इलाके में लोगों का घर से निकलना भी मुश्किल हो जाता है। इसलिये परेशान लोगों ने जंगल साफ कराने व वन्य प्राणियों को वापस जंगल भेजने की मांग को लेकर सड़क जाम कर अपना रोष प्रकट किया। इसके अलावा लोगों ने क्षतिग्रस्त परिवार को मुआवजा देने की मांग भी की है।

बागान के श्रमिक गोपाल बासमली, लक्ष्मी अहिन ने कहा कि लगातार हो रहे उत्पात व हमले को रोकने के लिए स्थाई समाधान की मांग की गई है। इसके लिए जंगल की सफाई जरूरी है। अगर प्रशासन की ओर से कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया तो जोरदार आंदोलन किया जाएगा। धुपगुड़ी के बीडीओ शंघदीप दास ने कहा कि सड़क किनारे के जंगल की सफाई के लिए बानरहाट 2 नंबर ग्राम पंचायत को जरूरी निर्देश दिए गए हैं। कल से जंगलों की सफाई शुरू हो जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस